DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरप्लस शिक्षकों की सूची देने में विद्यालय कर रहे आनाकानी

यूपी बोर्ड के अनुदानित विद्यालय सरप्लस शिक्षकों की सूची देने में आनाकानी कर रहे हैं। ऐसे विद्यालयों को दो जून तक का समय दिया गया है। इन शिक्षकों की सूची शासन को भेजी जाएगी। यहां से उन विद्यालयों में भेजा जाएगा जहां शिक्षकों की कमी है। माध्यमिक शिक्षा विभाग ने एक मई को सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों के माध्यम से विद्यालयों को फार्मेट भेजा था। इसके माध्यम उन्हें यह बताना है कि कक्षा 9 से 12 तक विषयवार उनके यहां कितने छात्र औक शिक्षक हैं। अधिकतर विद्यालयों ने यह सूचना भेजी ही नहीं। जानकार बताते हैं जहां शिक्षकों की संख्या मानक से अधिक है। इन विद्यालयों में छात्रों की संख्या कम है। ऐसे विद्यालयों के शिक्षक दूसरे विद्यालयों में भेजे जा सकते हैं। मगर विद्यालयों ने फार्मेट भर कर भेजा नहीं। इसलिए जिला विद्यालय निरीक्षक ओपी राय ने फिर सभी विद्यालयों के निर्देश भेजा है। इसी बीच शासन ने फार्मेट में फिर संशोधन किया है। संंशोधित फार्मेट भी विद्यालयों को भेजा गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:In the list of Sarpulas teachers, the school is inaccessible