DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीएचयू में छात्रा को शौचालय जाने से रोका, जांच के आदेश

बीएचयू के कला संकाय की दलित छात्रा को बुधवार को महिला महाविद्यालय स्थित शौचालय में जाने से रोक दिया गया। छात्रा ने इसकी शिकायत कुलपति से की। छात्रा की शिकायत को गम्भीरता से लेते हुए चीफ प्रॉक्टर प्रो. ओपी राय ने घटना की जांच शुरू करा दी है।छात्रा पिछले पांच दिनों से नए छात्र-छात्राअों की मदद के लिए महिला महाविद्यालय के समीप बनी हेल्प डेस्क पर स्वयंसेवा कर रही थी। 

बीएचयू की अनुसूचित जाति तथा जनजाति छात्र कार्यक्रम आयोजन समिति के बहुजन हेल्प डेस्क की इंचार्ज छात्रा का आरोप है कि सुरक्षाकर्मी ने भेदभावपूर्ण रैवैया अपनाते हुए शौचालय जाने से रोका। शिकायती पत्र में उसने घटना का जिक्र किया है। बताया कि किसी भी महिला को निकटतम शौचालय में जाने से रोकना न सिर्फ अमानवीय है, बल्कि गैर कानूनी भी है।

दलित छात्रा ने गार्ड के खिलाफ अनुशासनात्मक व दंडात्मक कार्रवाई की मांग की है। चीफ प्रॉक्टर प्रो. ओपी राय ने बताया कि महिला महाविद्याल के मुख्य द्वार के समीप गार्ड ड्यूटी रूम है। यहां पुरुष गार्ड गेट की रखवाली करते हैं। छात्रा को पुरूष शौचालय में न जाकर कालेज के भीतर बने शौचालय अथवा अस्पताल परिसर में जाने की सलाह दी गई थी। चीफ प्रॉक्टर कार्यालय ने गार्ड व छात्रा से पूछताछ के बाद रिपोर्ट कुलपति को सौंप दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:In the BHU the guard stopped the girl from going to the toilet ordered the inquiry