In Kashi rapidly growing Ganga ji started to move away the posts of the Aarti site - काशी में तेजी से बढ़ रहीं गंगा जी, हटने लगीं आरती स्थल की चौकियां अौर पुरोहितों की छतरियां DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

काशी में तेजी से बढ़ रहीं गंगा जी, हटने लगीं आरती स्थल की चौकियां अौर पुरोहितों की छतरियां

1 / 2

2 / 2

PreviousNext

गंगा और यमुना के प्रवाहपथ पर होने वाली मूसलधार बारिश का असर काशी में दिखने लगा है। बीते 36 घंटों में गंगा के जलस्तर में 02.18 मीटर बढ़ाव दर्ज किया गया। केंद्रीय जल आयोग के आंकड़ों के अनुसार शनिवार की सुबह बनारस में गंगा का जलस्तर 61.12 मीटर था। जबकि शुक्रवार की सुबह आठ बजे गंगा का जलस्तर 59.66 मीटर था। इस हिसाब से 24 घटों में काशी में गंगा के जलस्तर में 01.46 मीटर की वृद्धि हुई थी। गंगा में बढ़ाव छह सेमी. प्रतिघंटा की रफ्तार से जारी है। शनिवार की रात आठ बजे तक जलस्तर 72 सेमी. और बढ़ गया। जलस्तर में रातों रात हुई वृद्धि ने तीर्थपुरोहितों और नाविकों की चिंता बढ़ा दी।

अहिल्याबाई घाट से दशाश्वमेध घाट के बीच तीर्थ पुरोहितों को अपनी-अपनी चौकियां हटा कर घाट के ऊपरी हिस्से में रखीं। जलस्तर में वृद्धि की रफ्तार को देखते हुए गंगोत्री सेवा समिति और गंगा सेवा निधि की ओर से गंगा आरती स्थल पर की गई छतरी नुमा साज-सज्जा को हटाने में दोनों ही संस्थाओं के सदस्य पूरे दिन व्यस्त रहे।

तीर्थ पुरोहित अपनी चौकियां और छतरियां सहेजने में लगे थे तो नाविकों की नजर घाट की सीढ़ियां चढ़तीं मां गंगा पर लगातार बनी रही। नाविक घाट के ऊपरी हिस्से में लगे खंभों और रेलिंग से नाव के लंगर की रस्सियां बांधते रहे। हर दो घंटे पर उन्हें रस्सी कसनी पड़ रही है। अहिल्याबाई घाट पर बनाया गया अस्थाई चेंजिंग रूम कमर तक पानी में डूब चुका है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:In Kashi rapidly growing Ganga ji started to move away the posts of the Aarti site