DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  वाराणसी  ›  चुनाव ड्यूटी के नाम पर पति की हत्या की गई

वाराणसीचुनाव ड्यूटी के नाम पर पति की हत्या की गई

हिन्दुस्तान टीम,वाराणसीPublished By: Newswrap
Tue, 25 May 2021 03:20 AM
चुनाव ड्यूटी के नाम पर पति की हत्या की गई

वाराणसी। कार्यालय संवाददाता

राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ जिला इकाई का प्रतिनिधिमंडल सोमवार को कोरोना के ग्रास बन चुके शिक्षकों, कर्मचारियों के परिजनों से मिलने उनके आवासों पर पहुंचा। जिलाध्यक्ष शशांक कुमार पाण्डेय शेखर के नेतृत्व में पहुंचे प्रतिनिधिमंडल के साथ एमएलसी आशोतुष सिन्हा भी मौजूद रहे।

प्रतिनिधिमंडल ने प्राथमिक विद्यालय बिहड़ा सेवापुरी में शिक्षक रहे स्वर्गीय सुनील चक्रवाल के चांदपुर स्थित आवास पर उनकी पत्नी रंजना चक्रवाल और उनके दो बच्चों से मिलकर संवेदना जताई। रंजना चक्रवाल ने कहा कि उनके पति की एकतरह से हत्या की गई है। वह बीमार थे फिर भी उन्हें पीठासीन अधिकारी बनाया गया। मतदान केंद्र पर वह दोपहर 12 बजे बेहोश हो गये थे लेकिन उनको कोई इलाज की व्यवस्था दिये बिना मतदान केंद्र के बाहर सड़क पर पांच घंटे तक लिटाये रखा गया। मुझे भी समय से सूचना नहीं दिया गया। मुझे उनके बेहोश होने के छह घंटे बाद जानकारी दी गई। आशुतोष सिन्हा ने कहा कि इस मामले को सदन में उठाया जाएगा।

रमसीपुर स्थित स्वर्गीय आनंद भाई पटेल के आवास पर उनकी पत्नी सुनीता पटेल और उनकी दो बेटियों और एक बेटे से मिलकर संवेदना व्यक्त किया गया। जिला बेसिक शिक्षाधिकारी कार्यालय में स्टेनो पद पर कार्यरत स्वर्गीय गिरीश चंद्र श्रीवास्तव के खोजवां स्थित आवास पर उनकी पत्नी इंदू श्रीवास्तव व बच्चों से मिलकर शोक संवेदना व्यक्त की। इंदु श्रीवास्तव ने बड़े बेटे को अनुकंपा नौकरी दिलवाने की मांग रखी। प्राथमिक विद्यालय जोल्हा में शिक्षक रहे स्वर्गीय अनंत कुमार राय की पत्नी निधि राय और दस वर्षीय पुत्र सौभाग्य से मुलाकात के दौरान प्रतिनिधिमंडल ने अपनी संवेदना व्यक्त की। प्रतिनिधिमंडल में उपाध्यक्ष ज्योति प्रकाश, संरक्षक तपन पांडेय, चांदपुर के ग्राम प्रधान ओमप्रकाश सिंह शामिल थे।

संबंधित खबरें