DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मौसम : पिछली जुलाई में झमाझम बारिश, इस बार उड़ रही धूल

पिछली जुलाई में झमाझम बारिश, इस बार उड़ रही धूल (फोटो: मोहम्मद मुकीद)

1 / 4पिछली जुलाई में झमाझम बारिश, इस बार उड़ रही धूल (फोटो: मोहम्मद मुकीद)

पिछले वर्ष इसी माह में हुई थी 50 मिमी बारिश (फोटो: मोहम्मद मुकीद)

2 / 4पिछले वर्ष इसी माह में हुई थी 50 मिमी बारिश (फोटो: मोहम्मद मुकीद)

मानसून को लेकर अनिश्चितता बरकरार (फोटो: मोहम्मद मुकीद)

3 / 4मानसून को लेकर अनिश्चितता बरकरार (फोटो: मोहम्मद मुकीद)

तापमान फिर 40 डिग्री पहुंचा (फोटो: मोहम्मद मुकीद)

4 / 4तापमान फिर 40 डिग्री पहुंचा (फोटो: मोहम्मद मुकीद)

PreviousNext

जुलाई के 10 दिन बीते। जिन दिनों में झमाझम बारिश होनी चाहिए, उस दौरान शुष्क हवा धरती से आकाश तक धूल उड़ा रही है। मौसम के इस मिजाज से लोग चिंतित हैं तो किसान सूखे की आशंका से परेशान हैं। सोमवार को तापमान फिर 40 डिग्री पहुंचने और मानसूनी बारिश को लेकर फिलहाल अनिश्चितता के चलते लोगों की चिंताएं बढ़ चली हैं। 

रविवार की तरह ही सोमवार को मौसम काफी तल्ख रहा। आमतौर पर ऐसा मौसम क्वार यानी सितंबर के समय दिखता है। तीखी धूप और उमस से लोग परेशान हो उठे। अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया जो सामान्य से पांच डिग्री सेल्सियस अधिक है। आर्द्रता 65 फीसदी होने से उमस भी परेशान कर रही है। इधर कई दिनों से सुबह के वक्त बादलों की आवाजाही तो हो रही है लेकिन शाम तक आसमान साफ हो जा रहा है। 

जुलाई एक तिहाई हिस्सा बीत गया। लेकिन एक दिन भी पानी नहीं बरसा। जबकि पिछली साल जुलाई में 500 मिमी से अधिक बारिश हुई थी। आम तौर पर जुलाई में 325 मिमी बारिश होनी चाहिए। बंगाल की खाड़ी से आने वाला मानसून कमजोर पड़ गया है। 

मौसम विज्ञानियों को जुलाई के प्रथम सप्ताह में अच्छी बारिश की उम्मीद थी मगर ऐसा नहीं  हुआ। अब वह एक दो दिन में पूर्वांचल में बारिश होने का अनुमान लगा रहे हैं मगर यह मानसूनी नहीं, बल्कि तड़ित झंझावात या थंडर स्टार्म के चलते बारिश हो सकती है। 

मौसम विज्ञानी प्रो.बीआरडी गुप्ता का कहना है कि पूर्वी उत्तर प्रदेश में एक सिस्टम बन रहा है जिसके असर से एक-दो दिन में थंडरस्टार्म जैसी स्थिति बनेगी। उससे बारिश की संभावना है। उनका कहना है कि मानसून के बारे में सटीक पूर्वानुमान लगाना अभी मुश्किल है। जुलाई में कई बार ऐसी स्थिति आई है कि सामान्य से कम बारिश हुई या एक-दो दिन में पूरे महीने की बारिश का कोटा पूरा हो गया। 

वर्ष - जुलाई की कुल बारिश 
2017 -    537.3
2016 -    290.2
2015 -    307.4
2014 -    337.2
2013 -    206.0
2012 -    390.1
2011 -    265.5
2010 -    174.2
2009 -    161.8
2008 -    748.0

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Heavy rain this past July this year flying dust