DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

VIDEO वाराणसी में हुए दोहरे हत्याकांड का खुलासा, इस वजह से मारे गए हरेंद्र शर्मा अौर रुचि सिंह

रोहनिया थाना क्षेत्र के जगतपुर में 20 जून को हुई हिस्ट्रीशीटर हरेंद्र शर्मा अौर रुचि सिंह की हत्या का मंगलवार को पुलिस ने खुलासा कर दिया। वारदात को रुचि के चचेरे देवर जय प्रकाश सिंह उर्फ प्रकाश ने अपने साथियों के साथ मिलकर अंजाम दिया था। हत्या की साजिश प्रकाश के चचेरे मौसा और प्रॉपर्टी डीलर दिलीप सिंह उर्फ वासू ने की थी। जय प्रकाश सिंह, उसके दोस्त गंगापुर निवासी सोहन सिंह और मौसा मिर्जापुर के कछवां निवासी विनोद कुमार सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है। दिलीप सिंह की तलाश की जा रही है। 

रुचि के देवर जय प्रकाश के अनुसार कि उसके पिता पांच भाई थे। इनमें तीन को कोई संतान नहीं थी। एक से प्रकाश तो दूसरे से रुचि सिंह का पति दिलीप था। दिलीप की मौत के बाद उसकी पत्नी रुचि सिंह का संबंध गांव के हरेंद्र शर्मा से हो गया। हरेंद्र ने अपनी दबंगई के कारण तीन लोगों के हिस्से की छह बीघा जमीन पर भी कब्जा कर लिया था। प्रकाश लगातार जमीन को आधा आधा बांटने के लिए पंचायत करता रहा, लेकिन रुचि तैयार नहीं थी। रुचि के व्यवहार से तंग आकर उसकी सास मुन्नी देवी ने भी अपने हिस्से की जमीन दरेखू निवासी वासू को सट्टा कर दिया था। हरेंद्र की दबंगई के कारण ही जमीन पर कोई भी कब्जा नहीं कर पा रहा था। इसी दबंगई के कारण वासू के कहने पर हत्या की साजिश रची गई। 

वासू ने दी थी पिस्टल
प्रकाश ने बताया कि 20 जून की सुबह हत्या करने के लिए वासू ने .30 बोर की पिस्टल व कारतूस प्रकाश व सोहन को दी थी। कहा कि बेंगलुरु से आने तक हरेंद्र की हत्या कर दो। इसके बाद प्रकाश पत्नी को लेकर पांडेयपुर चला आया। इसी दौरान सोहन ने रात में फोन कर हरेंद्र के छह बीघा खेत जोतवाने की बात बताई तो वह पत्नी व मौसा विनोद सिंह को लेकर गांव वापस आया। रात में घर की चहारदीवारी फांदकर प्रकाश, सोहन और विनोद ने हरेंद्र अौर उसके बगल में सोई रुचि की हत्या कर दी। पिस्टल जगतपुर रेलवे क्रासिंग के पास छुपा दिया। हत्या के बाद प्रकाश व सोहन गांव में रुक गए और मौसा चला गया। एसएसपी ने खुलासा करने वाली टीम क्राइम ब्रांच प्रभारी विक्रम सिंह, रोहनिया इंस्पेक्टर पीके त्रिपाठी, क्राइम ब्रांच एसआई प्रदीप सिंह, कांस्टेबल सुमंत सिंह, पुनदेव सिंह, घनश्याम वर्मा, सुरेन्द्र मौर्या, कुलदीप सिंह समेत पूरी टीम को 25 हजार रुपये इनाम देने की घोषणा की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Harendra and Ruchi killed due to Dabangi reveals the double murder in Varanasi