ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश वाराणसीपहड़िया मण्डी में कूड़े का लगा अम्बार, बजबजा रही नालियां

पहड़िया मण्डी में कूड़े का लगा अम्बार, बजबजा रही नालियां

मंडी समिति सफाई कराने में असफल, कारोबारियों में रोष सफाई के नाम पर हर

पहड़िया मण्डी में कूड़े का लगा अम्बार, बजबजा रही नालियां
Newswrapहिन्दुस्तान टीम,वाराणसीSat, 25 Jun 2022 01:40 AM
ऐप पर पढ़ें

वाराणसी, हिन्दुस्तान संवाद।

पूर्वांचल की सबसे बड़ी मण्डी लाल बहादुर शास्त्री क़ृषि उत्पादन मण्डी समिति पहड़िया मण्डी में सफाई के नाम पर एक लाख रुपए से अधिक खर्च के बावजूद भी न गंदगी कम हो रही है और न कूड़े का अम्बार। कारोबारी ऐसी स्थिति में कारोबार करने को मजबूर हैं। उनकी शिकायत के बावजूद भी मंडी समिति कोई ठोस कदम नहीं उठा रहा है।

मंडी में विभिन्न प्रांतों से सैकड़ों छोटी-बड़ी गाड़ियों से फल और सब्जियां आती हैं। पूर्वांचल भर से छोटे-बड़े व्यापारी यहां से खरीदारी करते हैं। बावजूद इसके मंडी समिति ने कोई मुकम्मल सफाई की व्यवस्था नहीं की है। जबकि मंडी सचिव के मुताबिक हर माह एक लाख रुपए से अधिक खर्च हो रहा है। सड़कों पर जगह-जगह कूड़ा लगा है तो नालियां टूटी हैं। इसकी वजह से दुकानों के आसपास सीवर बह रहा है। गुरुवार को हुई बारिश के बाद मंडी की स्थिति और नरकीय हो गई है। कारोबारी हीरालाल मौर्य, किशन सोनकर व संतोष सिंह का कहना है कि मण्डी से कूड़ा नहीं उठता है, जिसके सड़ने से बदबू उठती है। नालियां बजबजा रही हैं। इकट्ठे कूड़े से आग लगने का भी डर है। समिति से कई बार शिकायत की गई है, मगर इसके प्रति वह उदासीन है। मंडी समिति टेंडर कर ठेकेदारी व्यवस्था से सफाई कराती थी। मगर दो साल से खुद सफाई कराती है।

कोट---

मंडी की सफाई हो रही है। यहां से निकलने वाले कूड़े की तौल की जाती है। मंडी में लगे तौल मशीन खराब होने से कूड़ा बाहर नहीं जा रहा था। अब मशीन बन गया है। कूड़े की निकासी शुरू हो गई है। कारोबारियों के नालियों पर अतिक्रमण वह टूट गई हैं। शीघ्र ही अतिक्रमण हटाया जाएगा।

-डीके वर्मा, सचिव, मंडी समिति

epaper