DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

PHOTO: गंगा और डेढ़ मीटर चढ़ीं, नौकाओं पर लगी रोक

गंगा और डेढ़ मीटर चढ़ीं, नौकाओं पर लगी रोक (फोटो:मदन मेहरोत्रा)

1 / 3गंगा और डेढ़ मीटर चढ़ीं, नौकाओं पर लगी रोक (फोटो:मदन मेहरोत्रा)

जलस्तर में पांच-छह सेंटीमीटर प्रति घंटा की दर से हो रहा है बढ़ाव (फोटो:मदन मेहरोत्रा)

2 / 3जलस्तर में पांच-छह सेंटीमीटर प्रति घंटा की दर से हो रहा है बढ़ाव (फोटो:मदन मेहरोत्रा)

चेतावनी बिंदु से घट रही दूरी फोटो:मदन मेहरोत्रा)

3 / 3चेतावनी बिंदु से घट रही दूरी फोटो:मदन मेहरोत्रा)

PreviousNext

काशी में गंगा के जलस्तर में बढ़ाव जारी है। शनिवार  सुबह आठ बजे से रविवार की सुबह आठ बजे के बीच जलस्तर में 01.65 मीटर वृद्धि दर्ज की गई है। औसतन पांच से छह सेंटीमीटर प्रतिघंटे की दर से बढ़ाव हो रहा है। वहीं दशाश्वमेध स्थित बुढ़िया शीतला माता की गुफा में गंगा का जल शाम चार बजे प्रवेश कर गया।

गंगा में बढ़ाव की यह गति अगले तीन दिन बनी रही तो गंगा चेतावनी के बिंदु के पास पहुंच जाएगी। यहां चेतावनी का स्तर 70.27 मीटर और खतरे का निशान 71.27 मीटर है। गंगा के अपस्ट्रीम से जुड़े सीतामढ़ी और इलाहाबाद में भारी बारिश एवं यमुना की सहायक नदियों चंबल, बेतवा, केन आदि के जलस्तर में वृद्धि का असर बनारस में गंगा के उफान के रूप में दिख रहा है। 

बीते 48 घंटों में जलस्तर में चाढ़े चार मीटर से अधिक वृद्धि को देखते हुए जिला प्रशासन ने रविवार को गंगा में छोटी-बड़ी सभी नौकाओं के परिचालन पर रोक लगा दी।  यह सूचना प्रसारित होने के अभाव में नौकाओं का परिचालन शाम तक जारी रहा। अस्सी से राजघाट के मध्य 84 पक्के घाटों की शृंखला पानी पहुंच जाने के कारण टूट चुकी है। अहिल्याबाई घाट से मानसरोवर घाट के बीच कई स्थानों पर नौकाओं को जल से बाहर निकाल कर उनकी मरम्मत कर रहे नाविकों को खासी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। माझियों ने मिलजुल कर इन नौकाओं को किसी प्रकार सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाया। 

दशाश्वमेध घाट पर गंगोत्री सेवा समिति और गंगा सेवा निधि की ओर से की जाने वाली गंगा आरती के स्थान भी बदल गए हैं। गंगा आरती को मुख्य रूप से पूजन तक सीमित कर दिया गया है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ganga one and a half meter climbing barriers to boats