DA Image
9 अगस्त, 2020|7:48|IST

अगली स्टोरी

अगले तीन दिनों तक BHU की जगह KGMU में होगी कोरोना सैंपलों की जांच

वाराणसी में BHU स्थित माइक्रोबायोलाजी लैब में काम करने वाली छात्रा के पॉजिटिव आने के कारण अब यहां कम से कम तीन दिनों तक सैंपलों की जांच नहीं होगी। यहां आ रहे सभी सैंपल लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (KGMU) भेजे जाएंगे। 

बीएचयू के माइक्रोबायोलॉजी डिपार्टमेंट के कोरोना टेस्टिंग लैब में कार्य करने वाली छात्रा संक्रमित होने के कारण यहां के सभी कर्मचारियों को 14 दिन के लिए क्वारंटीन कर दिया गया है। छात्रा के साथ ही सभी कर्मचारियों का भी सैंपल लिया गया था। फिलहाल छात्रा को छोड़कर सभी की रिपोर्ट निगेटिव है। लेकिन सेनेटाइजेशन के लिए लैब को सील कर दिया गया है।

यहां काम करने के लिए अलग से टीम तैयार की जाएगी। उस टीम की ट्रेनिंग पूरी हो जाने और काम करने लायक होने तक यहां कोई सैंपल जांच के लिए नहीं आएगा। अधिकारियों का मानना है कि इसमें कम से कम तीन दिन का समय लग सकता है। 

बताया जाता है कि छात्रा के घर के एक सदस्य को दो-तीन दिन पहले बुखार हुआ था। उसके बाद छात्रा को भी लक्षण दिखाई दे रहे थे। इसके बाद छात्रा का सैंपल लिया गया था। शुक्रवार को रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर लैब प्रोटोकाल के तहत सभी सतर्कता वाले कदम उठाए जा रहे हैं। 

बीएचयू की इस लैब पूर्वांचल के 13 जनपदों के कोरोना सैंपल जांच के लिए आ रहे थे। अब यह सैंपल यहां नहीं आएंगे। जिला प्रशासन से बीएचयू लैब बंद होने की जानकारी मिलने के साथ ही स्वास्थ्य विभाग ने इन सभी 13 जनपदों के लिए दूसरे जिलों में वैकल्पिक लैब की व्यवस्था निर्धारित कर दी है। वाराणसी और चंदौली ज़िलों के लिए KGMU लखनऊ को निर्धारित किया गया है। तीन दिनों के बाद लैब को अब नए ट्रेनिंग वाले डॉक्टर्स व कर्मचारियों के द्वारा चलाया जाएगा। अभी तक इस लैब में कार्य करने वाले सभी लोगो को 14 दिन के लिए क्वारंटीन कर दिया गया है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:For the next three days the corona samples will be examined in KGMU instead of BHU