DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  वाराणसी  ›  भारत में नहीं दिखेगा साल का पहला चंद्रग्रहण

वाराणसीभारत में नहीं दिखेगा साल का पहला चंद्रग्रहण

हिन्दुस्तान टीम,वाराणसीPublished By: Newswrap
Tue, 25 May 2021 03:12 AM
भारत में नहीं दिखेगा साल का पहला चंद्रग्रहण

वाराणसी। प्रमुख संवाददाता

साल 2021 का पहला चंद्रग्रहण 26 मई को लगेगा लेकिन उपछाया होने के कारण यह चंद्रग्रहण भारत में नहीं दिखेगा। इसलिए इसका सूतक भी मान्य नहीं होगा। बावजूद इसके पांच राशि के जातकों पर इस चंद्रग्रहण का सकारात्मक प्रभाव अवश्य पड़ेगा।

महावीर पंचांग के संपादक पं. रामेश्वरनाथ ओझा के अनुसार यह ग्रहण भारतीय समयानुसार दोपहर 2:12 बजे शुरू होगा और शाम 7:29 बजे खत्म होगा। यह चंद्र ग्रहण दक्षिण पूर्व एशिया,दक्षिण अमेरिका, आस्ट्रेलिया,कनाडा, ओशिनिया और अलास्का में दिखेगा। ग्रहण का सभी राशियों पर कुछ न कुछ असर अवश्य पड़ता है। इस दृष्टि से इस चंद्रगहण का पांच राशियों मेष, वृष, मिथुन, कन्या और मकर के जातकों पर सकरात्मक प्रभाव पड़ेगा। उक्त राशियों के जातकों पर शुभ फल के स्वरूप यश वृद्धि, रोजगार में उन्नति, परिवार में प्रतिष्ठा, पुराने मित्रों से मिलन सहित प्रेम संबंधों में लाभ प्राप्त होगा।

पं. रामेश्वर ओझा ने बताया कि पूर्ण और आंशिक ग्रहण के अतिरिक्त उपछाया ग्रहण भी होता है। चंद्रमा जब पृथ्वी की वास्तविक छाया में न आकर पृथ्वी की उपछाया से ही बाहर निकल जाता है तब उपछाया ग्रहण लगता है। इस ग्रहण में चंद्रमा के रंग और आकार में कोई बदलाव नहीं होता है। चंद्रमा पर हल्की धुंधली सी छाया दिखती है।

2021 के प्रमुख ग्रहण

इस वर्ष 10 जून को कंकणाकृति सूर्यग्रहण होगा। यह ग्रहण भी भारत में नहीं दिखाई देगा। 19 नवंबर को लगने वाला खंडग्रास चंद्रग्रहण भारत में थोड़े समय के लिए देखा जा सकेगा। इसके बाद चार दिसंबर को खंडग्रास सूर्यग्रहण होगा। यह भी भारत में नहीं दिखेगा।

संबंधित खबरें