DA Image
2 मार्च, 2021|12:51|IST

अगली स्टोरी

किसान मेला: जैविक खाद से ठीक होगी मिट्टी की सेहत

किसान मेला: जैविक खाद से ठीक होगी मिट्टी की सेहत

वाराणसी। हिन्दुस्तान टीम

किसान कल्याण मिशन के तहत गुरुवार को जिले के चोलापुर, पिंडरा और चिरईगांव ब्लाक में हुए किसान गोष्ठी और मेले में किसानों को जैविक खाद के प्रयोग की सलाह दी गई। इस दौरान किसानों को विभिन्न योजनाओं और पशुपालन की जानकारी भी दी गई।

दानगंज प्रतिनिधि के अनुसार चोलापुर ब्लाक मुख्यालय में मुख्य अतिथि और सांसद प्रतिनिधि अखंड प्रताप सिंह ने कहा कि रसायनिक उर्वरकों का अंधाधुंध प्रयोग खतरनाक मोड़ पर है। ऐसे में जरूरी है कि प्राकृतिक खेती को बढ़ावा दिया जाय। उप कृषि निदेशक स्मिता वर्मा ने किसानों को विभाग की योजनाओं और कृषि वैज्ञानिक डॉ. एके सिंह ने पशुपालन के संबंध में जानकारी प्रदान की। ब्लाक के त्रिभुवन पाण्डेय को रोटावेटर, उदय प्रताप सिंह को रीपर कमवाइंडर, फौजदार यादव,सभाजीत यादव , बच्चाराम, ऋषिनारायण को रोटावेटर के अनुदान का प्रमाण पत्र मिला। इसी प्रकार कुल 6 किसानों को उद्यान विभाग की ओर से अनुदान का प्रमाण पत्र प्रदान किया गया।

मेले के बाद उप कृषि निदेशक ने परानापट्टी गांव में गेहूं की लाइन सोईंग व रौनाखुर्द स्थित फार्म स्कूल के प्रदर्शन प्लाट का औचक निरीक्षण किया।

पिंडरा प्रतिनिधि के अनुसार वरिष्ठ कृषि वैज्ञानिक डॉ एनके सिंह ने कहाकि फसलों के संयोजन और विविधीकरण से किसान आय दोगुनी कर सकते हैं। लघु किसानों के लिए कृषि विविधीकरण खेती रामबाण है। किसान मिट्टी के सेहत और जैविक खेती से फसलों को पैदा कर अपनी आय दोगुनी करने के साथ आत्मनिर्भर बन सकते हैं। मशरूम खेती के विशेषज्ञ डॉ गोविंद देव मिश्र ने कहाकि मशरूम की खेती में कम लागत में अधिक आय होती है। कृषि विशेषज्ञ विंध्यवासिनी मौर्य ने कहाकि किसानों को वैज्ञानिक विधि से खेती करने की जरूरत है। भूमि संरक्षण अधिकारी अमित मिश्रा ने कहाकि किसान देश की ताकत है। उनके सुधार के सरकार कटिबद्ध है। इसके पूर्व किसान मेला व संगोष्ठी का शुभारंभ विधायक प्रतिनिधि पवन सिंह व कृषि वैज्ञानिकों ने दीप प्रज्वलित कर किया।

चिरईगांव प्रतिनिधि के अनुसार मेले का उद्घाटन संयुक्त कृषि निदेशक एसी शर्मा और भाजपा जिलाध्यक्ष हंसराज विश्वकर्मा ने किया। भाजपा जिलाध्यक्ष ने कहा कि किसान हमारे देश के प्राण हैं। संयुक्त कृषि निदेशक कहा कि किसान अधिक उत्पादन बढ़ाने के चक्कर में अंधाधुंध रासायनिक खादों का प्रयोग करते हैं। लेकिन रासायनिक खादों के प्रयोग से मिट्टी की उर्वरा शक्ति क्षीण होती है। जिला कृषि अधिकारी सुबास मौर्य ने बताया कि सरकार कृषि यंत्रों भारी छूट दे रही है। डॉ वीबी सिंह पशुचिकित्सा अधिकारी ने बर्डफ्लू से बचाव व पशुपालन सम्बंधित जानकारी दी। कार्यक्रम में सुमन सिंह को प्याज, प्रेमा देवी को लहसुन, आलू, टमाटर, मटर की उत्कृष्ट खेती करने वाले किसानों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। मेले में उद्यान विभाग,यूपी नेडा, राजकीय कृषि रक्षा इकाई, सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग, जिला सहकारी बैंक, प्रधानमंत्री फसल बीमा ,कृषि उत्पादन मंडी, मत्स्य पालन विकास ,अभिकरण लघु सिंचाई विभाग, राज्यकीय कृषि बीज, भंडार गन्ना विकास विभाग, सन इंडिया नमामि गंगे, जैविक खेती परियोजना, पशुपालन विभाग,बड़ौदा यूपी बैंक राज्य की धान क्रय केंद्र सहित लगभग दो दर्जन विभागों के स्टाल लगाए गए थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Farmer 39 s Fair Organic fertilizer will improve soil health