DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › वाराणसी › ऊर्जा ही देश के आर्थिक व सामाजिक विकास की धुरी
वाराणसी

ऊर्जा ही देश के आर्थिक व सामाजिक विकास की धुरी

हिन्दुस्तान टीम,वाराणसीPublished By: Newswrap
Wed, 01 Sep 2021 03:32 AM
ऊर्जा ही देश के आर्थिक व सामाजिक विकास की धुरी

वाराणसी। वरिष्ठ संवाददाता

बीएचयू के भूभौतिकी विभाग में मंगलवार को सात दिवसीय जिओ आकर्षण कार्यक्रम का वर्चुअल उद्घाटन हुआ। मुख्य अतिथि ओएनजीसी के डीजीएम एसएन चिंतिस थे। कार्यक्रम आल इंडिया सोसाइटी ऑफ जियोफिजिस्ट (एसईजी) और सोसाइटी ऑफ पेट्रोलियम ऑफ पेट्रोलियम जियोफिजिस्ट (एसपीजी) की ओर से आयोजित है।

सात दिवसीय कार्यक्रम में भू विज्ञान पर आधारित कई कार्यक्रम होंगे। देश के बड़े वैज्ञानिक प्रतिदिन छात्रों से रूबरू होंगे। उद्धाटन समारोह में इवेंट की थीम भारत की ऊर्जा सुरक्षा में शिक्षाविदों की भूमिका विषय पर संगोष्ठी भी हुई। मुख्य अतिथि एसएन चिंतिस ने कहा कि वस्तुतः ऊर्जा ही किसी भी देश के आर्थिक व सामाजिक विकास की धुरी है। विभागाध्यक्ष आर. भाटला ने कहा कि ऊर्जा किसी भी देश के विकास का इंजन होती है। फैकल्टी एडवाइजर प्रो. मनोज श्रीवास्तव ने कहा कि भारत की ऊर्जा नीति के लिए ऊर्जा भंडारण काफी महत्वपूर्ण समझा जा रहा है। लिहाज़ा ऊर्जा भंडारण में बेहतरी के लिए व्यापक राष्ट्रीय ऊर्जा भंडारण मिशन बनाया गया है। स्वागत डॉ. संदीप ने किया। इस अवसर पर डॉ. रोहताश, अशोक पांडेय, डॉ. उमाशंकर, राघव सिंह, डॉ. सत्यप्रकाश आदि रहे। छात्रों का प्रतिनिधित्व विशाल और शिवांश ने किया।

संबंधित खबरें