DA Image
हिंदी न्यूज़ › उत्तर प्रदेश › वाराणसी › नगर निगम में गबन : फर्जी रसीद बुक के जरिए भर रहे जेब
वाराणसी

नगर निगम में गबन : फर्जी रसीद बुक के जरिए भर रहे जेब

हिन्दुस्तान टीम,वाराणसीPublished By: Newswrap
Wed, 01 Sep 2021 03:32 AM
नगर निगम में गबन : फर्जी रसीद बुक के जरिए भर रहे जेब

वाराणसी। कार्यालय संवाददाता

नगर निगम में तीन वर्षों की ऑडिट ने व्यवस्था के छिद्र उजागर कर दिए हैं। नगर निगम के स्टाफ को प्रशासनिक शुल्क की वसूली के लिए रसीद बुक जारी की जाती है। इससे गंदगी, पॉलीथीन, अतिक्रमण आदि के लिए स्वास्थ्य निरीक्षक, कर्मचारी व प्रवर्तन दल के सदस्य जुर्माना वसूलते हैं। लेकिन कई ‘खिलाड़ियों ने फर्जी रसीद छपवाई और उसके जरिए जुर्माना वसूला जाता रहा। वह भी नगर निगम की सीमा के बाहर तक। वहीं, विज्ञापन होर्डिंग लगवाने के नाम पर भी खेल होता रहा।

वर्ष 2019-20 की ऑडिट रिपोर्ट के अनुसार कर्मचारियों ने फर्जी रसीद बुक से 100, 500 रुपये का अनेक लोगों से जुर्माना तो वसूल लिया लेकिन उसे निगम के कोष में जमा नहीं कराया गया। रिपोर्ट में साक्ष्य दिया गया है। बुक संख्या 45 में रसीद संख्या-33 पर नगर निगम सीमा से बाहर 19 अगस्त 2019 को 500 रुपये का जुर्माना वसूला गया है। जबकि उसी पुस्तक की रसीद संख्या 33 पर स्वास्थ्य निरीक्षक ने 20 जून 2019 को 100 रुपये के रूप में शमन शुल्क लगाया था। इसे वित्तीय अनियमितता मानते हुए जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई की संस्तुति की गई है। रिपोर्ट के अनुसार कई रसीदों पर जुर्माना देने वाले व्यक्ति के नाम, मोबाइल नंबर, पता स्पष्ट न लिखे जाने से उनका मिलान दस्तावेजों से नहीं हो पा रहा है।

शहर में होर्डिंगों पर विज्ञापन के लिए बिना टेंडर किए ही फर्मों को अनुमति देने का मामला भी सामने आया है। ऑडिट रिपोर्ट में पिछले कई वर्षों से बिना टेंडर कंपनियों के विज्ञापन को अनुमति की बात लिखी गई है जिससे लाखों रुपये की क्षति की आशंका जताई गई है। रिपोर्ट में दो फर्मों का उदाहरण देते हुए नगर निगम को एक लाख 17 हजार 885 रुपये की राजस्व हानि दिखाई गई है।

संबंधित खबरें