DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईपीडीएस के कार्यों की अवधि छह माह बढ़ी

केंद्रीय ऊर्जा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) पीयूष गोयल ने कहा कि आईपीडीएस का कार्य अभी चार से छह माह और चलेगा। कहा कि बारिश की वजह से कार्य में बाधा आई है। 80 फीसदी कार्य हो चुका है। बाकी बचे काम को भी जल्द पूरा करने का निर्देश दिया गया है। आईपीडीएस के लिए पहले 30 सितंबर की मियाद तय की गई थी। केंद्रीय मंत्री मंगलवार को कचहरी चौराहे पर अम्बेडकर पार्क में पौधरोपण के बाद मीडिया से बातचीत कर रहे थे। पीयूष गोयल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बनारस के विकास को लेकर काफी संवेदनशील हैं। उनकी निगाहें हमेशा संसदीय क्षेत्र पर रहती हैं। इसलिए यहां किसी परियोजना में लापरवाही नहीं की जा सकती है। बिजली से जुड़ी जितनी भी परियोजनाएं चल रहीं हैं, उन्हें तय समय में ही पूरा किया जाएगा। लेकिन आईपीडीएस के कार्य पिछले दिनों बारिश व सावन की वजह से प्रभावित हुए थे जिससे सितम्बर तक कार्य पूरा करना संभव नहीं है। इसलिए प्रोजेक्ट पूरा होने में चार से छह माह का और समय लग जाएगा। 432 करोड़ से चल रहा भूमिगत केबल का काम गंगा किनारे दो किमी परिक्षेत्र में फरवरी 2015 से आईपीडीएस (इंटीग्रेटेड पॉवर डेवलेपमेंट स्कीम) के तहत भूमिगत केबल डालने का कार्य चल रहा है। इस पर 432 करोड़ रुपये खर्च होंगे। माल्यार्पण से पहले अंबेडकर प्रतिमा की धुलाई केंद्रीय ऊर्जा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) पीयूष गोयल ने कचहरी चौराहे पर अम्बडेकर पार्क में पौधरोपण किया। डॉ. अम्बेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण करने से पहले केंद्रीय मंत्री प्रतिमा की धुलाई भी की। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं को नए भारत के निर्माण का संकल्प भी दिलाया। कार्यकर्ताओं को सरकार की योजनाओं के प्रचार-प्रसार का संदेश दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Duration of work of IPDS increased by six months