DA Image
7 अगस्त, 2020|3:34|IST

अगली स्टोरी

13 घंटे ड्यूटी से थका ट्रेन ड्राइवर, काशी स्टेशन पर खड़ी कर दी चंडीगढ़-पाटलीपुत्र सुपरफास्ट एक्सप्रेस, हंगामा

चंडीगढ़ से पटना जा रही चंडीगढ़-पाटलीपुत्र सुपरफास्ट एक्सप्रेस के ड्राइवर ने मंगलवार की रात काशी स्टेशन पहुंचने के बाद गाड़ी आगे ले जाने से इनकार कर दिया। करीब सात घंटे देरी से चल रही ट्रेन को चालक ने वाराणसी में ही रोक दिया था। किसी तरह वहां से काशी स्टेशन लेकर आया अौर फिर रोक दिया। यात्रियों के हंगामे और निवेदन पर करीब सवा घंटे बाद रात 11 बजे ट्रेन लेकर आगे रवाना हुआ।

इस ट्रेन कैंट स्टेशन पहुंचने का समय दोपहर 2.35 बजे है। यात्रियों के मुताबिक पहले से देरी से चल रही ट्रेन लखनऊ से जौनपुर तक रुकते रुकते किसी तरह आई। जौनपुर से वाराणसी तो बैलगाड़ी की स्पीड से पहुंची। शिवपुर स्टेशन के आउटर पर यह ट्रेन रात करीब आठ बजे पहुंची। यहां सवा घंटे खड़ी कर दी गई। कैंट स्टेशन पर रात साढ़े नौ बजे ट्रेन पहुंची।

इसके बाद काशी स्टेशन 9.45 बजे गई। 10 बजे ट्रेन आगे बढ़ाने के लिए परिचालन विभाग की ओर से सिग्नल दिया गया लेकिन चालक ने ट्रेन आगे ले जाने से मना कर दिया। उसका कहना था कि 13 घंटे से वह ट्रेन चला रहा है। कैंट तक ही उसकी ड्यूटी थी। बावजूद जबरदस्ती उसे आगे के लिए भेजा गया। उसके पास न तो खाने के लिए कुछ है अौर न ही पीने के लिए पानी। ट्रेन आगे न ले जाने पर यात्री हंगामा करने लगे। इसके बाद चालक के पास पहुंचे और आगे तक पहुंचाने के लिए निवेदन किया। रात 11 बजे ट्रेन आगे बढ़ सकी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Driver refuses to take train forward disorder at Kashi station