अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

क्राइम ब्रांच ने दबोचे अंतरराज्यीय गिरोह के दस बदमाश

क्राइम ब्रांच ने दबोचे अंतरराज्यीय गिरोह के दस बदमाश

क्राइम ब्रांच वाराणसी और रामनगर पुलिस ने ताबड़तोड़ छापेमारी के बाद शनिवार को 10 बदमाशों की गिरफ्तारी कर बड़ी कामयाबी हासिल की। क्राइम ब्रांच ने पूर्वांचल के कई जिलों समेत बिहार, मप्र में चोरी की गाड़ियां बेचने वाले गिरोह का पर्दाफाश किया है। गिरफ्तार बदमाश रामनगर हाइवे पर अपराधी ट्रकों से अवैध वसूली करते थे तो पुलिस की गाड़ी पर भी फायरिंग कर चुके हैं। शनिवार को एसएसपी ने खुलासा करते हुए गिरोह के बाबत जानकारी दी और पुलिस टीम को इनाम दिया। 

रविवार को पुलिस लाइन सभागार में एसएसपी आरके भारद्वाज ने प्रेसवार्ता कर पुलिस कार्रवाई का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि पकड़े गये अपराधी वाराणसी जोन के आसपास के जिलों समेत अन्य प्रदेशों में वाहन चोरी, लूट और छिनैती की घटनाओं को अंजाम देते थे। हाईवे पर बाइक सवार पांच अपराधी ट्रकों से लूट के प्रयास की जानकारी पर पहुंची पुलिस टीम ने सभी को दबोच लिया।  इसके बाद उनकी निशानदेही पर चंदौली के धानापुर थाना क्षेत्र के बूढ़ेपुर गांव से पांच अन्य बदमाशों को भी दबोच लिया। पकड़े गए बदमाशों ने पूछताछ में पुलिस को वाहन चोरी और उन्हें बेचे जाने की जानकारी दी। साथ ही हथियारों की खरीद-फरोख्त भी करते हैं। पकड़े गये अपराधियों में एक बीएचयू का छात्र भी शामिल है। सभी लुटेरे बीएचयू छात्र गुड्डू और घनश्याम चौबे के किराये के घर में रूके थे।

पकड़े गये अपराधियों में धीरज उर्फ विवेक विक्की चौबे और घनश्याम चौबे बिहार का रहने वाला है। वीरेंद्र यादव, रजनीकांत यादव, सुनील यादव, लव यादव, रामराज यादव और अरविंद यादव चंदौली का रहने वाला है। यशलोक वाराणसी का और मोहित सिंह गाजीपुर का रहने वाला है। सनी और वीरेंद्र यादव चंदौली, सोनभद्र और बिहार के सीमावर्ती इलाकों में घटना के लिए सूचना उपलब्ध कराते थे, जबकि मोहित सिंह गाजीपुर की घटनाओं के लिए सूचना देते थे। चंदौली के रहने वाले सनी यादव के घर पर इकट्ठा होकर वारदात के लिए प्लानिंग होती थी और घटना के बाद लूट के माल का बंटवारा भी यहीं होता था। अपराधियों के पास से 8 बाइक, एक पिस्टल, छह तमंचा, तीन चाकू, 11 मोबाइल फोन और तीन हजार रूपया बरामद किया है। 

टीम में क्राइम ब्रांच ओमनारायण सिंह, एसआई राकेश सिंह और प्रेमनारायण, एसओ रामनगर राजीव सिंह, एसआई सदानंद राय, तेज प्रताप यादव, पुनदेव सिंह, सुरेंद्र मौर्या, कुलदीप सिंह, चंद्रसेन, सुनील राय, यशवंत सिंह, कमलेश सिंह, राजेश सिंह समेत आदि कई पुलिसकर्मी शामिल रहे। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Crime Branch intervened 10 gangsters of inter-state gang