DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

VIDEO लगातार बारिश से वाराणसी में पिछले साल का रिकार्ड टूटा, बलिया में पुलिस चौकी डूबी

पूर्वांचल में दो दिनों से रुक-रुककर हो रही बारिश ने जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है। जलजमाव, मकान और पेड़ गिरने, नालियां जाम होने से लोगों की परेशानी बढ़ गई है। पूर्वांचल में दीवार और कच्चा मकान गिरने से तीन लोगों की मौत हो गई है। बलिया में थानों व पुलिस चौकियों के अलावा कई मुहल्लों में लोगों के बेडरूम व रसोईघर तक में पानी भर गया। डीएम व एसपी कार्यालय लबालब हो गए। करीब-करीब सभी सड़कों पर जलजमाव का ऐसा नजारा था कि पूरा शहर पानी पर तैरता नजर आया।

वाराणसी में जुलाई में अब तक हुई झमाझम बारिश ने पिछले साल का रिकार्ड तोड़ दिया है। गतवर्ष जुलाई में  कुल 236.4 मिमी बारिश हुई थी। इस बार 11 जुलाई तक 269.4 मिमी बारिश हो चुकी है। अभी जुलाई का 19 दिन बाकी है। बुधवार की रात भारी बारिश हुई। गुरुवार को सुबह 8.3 0 बजे 89.4 मिमी बारिश रिकार्ड की गई। केंद्रीय जल आयोग की सूचना के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 93.6 मिमी बारिश हुई है। जुलाई का मानक 300-310 मिमी का है। 

आजमगढ़, जौनपुर, चंदौली, वाराणसी समेत पूर्वांचल में बारिश से काफी नुकसान हुआ है। आजमगढ़ के मुबारकपुर थाना क्षेत्र के कुकुरसंडा गांव में सुबह तेज बारिश से कच्ची दीवार गिरने से  तकदीर अली (65) की मौत हो गई जबकि उसकी 30  वर्षीय बेटी घायल हो गई। वहीं जहनागंज के ईदिलपुर गांव में दीवार गिरने से अनीता (32 ) पत्नी बबलू घायल हो गई। चंदौली के चकिया कोतवाली क्षेत्र के शाहपुर गांव में सुबह कच्चा मकान ढह गया। मकान के मलबे में दबने से 22 वर्षीया विवाहिता सविता की मौत हो गई। 2 वर्षीय मासूम शिवा घायल हो गया।

जौनपुर में गुरुवार को लगातार हो रही बारिश से एक दर्जन से ज्यादा कच्चे मकान गिर गए।  जौनपुर के खेतासराय के मनेछा में गिरी दीवार के मलबे में दबने से अमरावती (55) पत्नी स्व.बुद्धू बिन्द  की मौत हो गई। इसके अलावा मऊ, बलिया, गाजीपुर, भदोही, मिर्जापुर में भी दो दिन से रुक रुककर हो रही बारिश से भारी नुकसान हुआ है। 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Constant rain rises Varanasi records record of last year three killed in Purvanchal