DA Image
28 फरवरी, 2020|1:19|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

काशी में बोले सीएम योगी, CAA का विरोध देश के खिलाफ षड्यंत्र

नागरिकता संशोधन कानून भाजपा की रैली को संबोधित करने शनिवार को काशी पहुंचे यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इस समय सीएए को लेकर जो विरोध हो रहा है वह केवल भारतीय जनता पार्टी का विरोध नहीं है। यह विरोध देश के खिलाफ षड्यंत्र है। इसलिए सभी को इस बारे में जागरूक करने की जरूरत है। लोगों को जागरूक करने के लिए ही हम आप लोगों के बीच आए हैं। रैली को बतौर मुख्य अतिथि कैबिनेट मंत्री स्मृति ईरानी ने भी संबोधित किया औऱ कांग्रेस पर जमकर हमला बोला।

संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के मैदान पर आयोजित रैली में सीएम ने मोदी सरकार की योजनाओं का बखान करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री विभिन्न योजनाओं के जरिये किसानों, नौजवानों के हित में काम कर रहे हैं। उनके कार्यों से घबराकर विपक्षी सीएए के नाम पर लोगों को भड़का रहे हैं। 2008 में जब मुंबई पर आतंकी हमला हुआ था। देश के लोग चाहते थे कि पाकिस्तान पर हमला हो। लेकिन तब की सरकार ने नहीं किया। आज जब पाकिस्तान को जवाब दिया जा रहा है, तब मोदी सरकार के खिलाफ षड्यंत्र किया जा रहा है। 

योगी ने दोहराया कि नागरिकता कानून लोगों को नागरिकता देने का  कानून है लेने का नहीं। फिर भी मोदी से घबराए विपक्षी लोगों को भड़का रहे हैं। भारत विरोधी नारा लगाने वालों के साथ खड़े होने से कांग्रेस, सपा और विपक्षियों का चरित्र भी सामने आ रहा है। इस कानून को तोड़ मरोड़कर पेश करने का प्रयास किया जा रहा है। इस कानून की आड़ में अराजक गतिविधियों को बढ़ावा दिया जा रहा है। सरकार ने इन अराजकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है। इसी का नतीजा है कि लोग चेक लेकर खुद आ रहे हैं। योगी ने कहा कि देश का संविधान हमें फंडामेंटल राइट देता है तो हमें फंडामेंटल दायित्व भी देता है। दायित्व यही है कि अगर कहीं भी देश के साथ धोखा हो रहा हो तो हमें आगे आकर लोगों को जागरूक करना होगा। उन्होंने भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं से मौन रहने की जगह लोगों को समझाने की अपील की।

राष्ट्रहित नहीं परिवारहित में कांग्रेस ने स्वीकारा देश का बंटवाराः स्मृति ईरानी

नागरिकता संशोधन कानून पर वाराणसी में आयोजित भाजपा की रैली में कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने कांग्रेस पर जबरदस्त हमला किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने धर्म के आधार पर देश का बंटवारा राष्ट्रहित में नहीं परिवार हित में स्वीकार किया था। उन्हें परिवार के एक सदस्य को नेता प्रधानमंत्री बनाना था। संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय मैदान पर आयोजित रैली में बतौर मुख्य अतिथि स्मृति ईरानी ने अपनी बात की शुरुआत कश्मीरी पंडितों के पलायन और नरसंहार से की। उन्होंने कहा कि 1990 में पाकिस्तान के इशारे पर काला इतिहास हमारे देश का अंग बन गया। 

स्मृति ईरानी ने कहा कि जब अंग्रेज देश का विभाजन कर रहे थे तब एक ही बिन्दु लेकर चले। उन्होंने हिन्दुस्तान को खत्म करने के लिए विभाजन धर्म के आधार पर किया। गोरों की इस सीख को कांग्रेस पार्टी ने अपना संस्कार मान लिया। आज जो लोग संविधान की दुहाई देते हैं उन्हें 72 साल बाद भी इस बात का जवाब नहीं सूझता कि जब धर्म के आधार पर देश का बंटवारा हो रहा था तो कांग्रेस ने क्यों स्वीकार किया। क्या कोई अपनी मां का बंटवारा स्वीकार कर सकता है। स्मृति ने कहा कि जब बंटवारा हुआ तो गांधी जी चाहते थे कि जो हिन्दू परिवार पाकिस्तान में छूट रहे हैं उनका संरक्षण हो। बापू के इस कथन को नरेंद्र दामोदर दास मोदी ने न सिर्फ स्वीकार किया बल्कि साकार भी किया। 

स्मृति ने कहा कि 1950 में नेहरू-लियाकत पैठ हुआ था। तय हुआ कि  पाकिस्तान में रहने वाले अल्पसंख्यकों का वहां की सरकार संरक्षण करेगी। इस पैठ के चलते हिन्दुस्तान ने भी इस जिम्मेदारी को स्वीकार किया कि अल्पसंख्यक यहां सुरक्षित रहेंगे। तब भारत में 9 प्रतिशत अल्पसंख्यक थे और 2012 में यह संख्या 14 प्रतिशत के पार चली गई। हिन्दुस्तान की जनता ने जो वचन दिया उस पर खरा उतरी। जबकि पाकिस्तान में 1947 में अल्पसंख्यक 23 प्रतिशत थे और घटते घटते तीन प्रतिशत रह गए। इसके बावजूद कांग्रेस के कान पर जूं तक नहीं रेंगी। पाकिस्तान में कितनी ही बेटियों को उठाया गया, बलात्कार किया गया। जबरिया शादी की गई और धर्म परिवर्तन कराया गया लेकिन कांग्रेस कुछ नहीं बोली। 

स्मृति ने कहा कि भाजपा के कार्यकर्ता जानते हैं कि कांग्रेस में हिन्दू और सिख विरोधी आत्माएं लगी हुईं है लेकिन यह नहीं जानते थे कि कांग्रेस ईसाइयों के भी विरोध में खड़ी होगी। पाकिस्तान में ईसाइयों के धार्मिक स्थलों पर विस्फोट किया गया तब सोनिया गांधी नहीं रोईं। जब बाटला हाउस में आतंकवादी को मारा गया तब रोईं।

राममंदिर निर्माण के साथ पूरा होगा विश्वनाथ कॉरिडोर : केशव
डिप्टी सीएम केशव मौर्य ने कहा कि कांग्रेस राम मंदिर के निर्माण में रोड़े अटकाती रही। अब राम मंदिर का निर्माण जल्द शुरू होगा। इसके साथ विश्वनाथ कॉरिडोर का निर्माण भी पूरा होगा। उन्होंने कहा, विपक्ष मुद्दाविहीन है। इसी बौखलाहट में मोदी सरकार के निर्णयों का विरोध कर रही है।  
डिप्टी सीएम ने कहा, नागरिकता कानून तो पहले से था, सरकार ने तो बस इसमें संशोधन किया है। अब पाकिस्तान, बंगलादेश और अफगानिस्तान के पीड़ितों को न्याय मिलेगा। डिप्टी सीएम ने कहा कि मेरठ में पाकिस्तान के पक्ष में नारा लगाने वाले लोगों के खिलाफ बोलने पर पुलिस अधिकारी का विपक्ष ने विरोध किया। देश की धरती पर पाकिस्तान के पक्ष में नारा जनता नहीं सुन सकती। यह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। 
राहुल गांधी को घेरते हुए उन्होंने कहा वह इमरान खान की भाषा बोलते हैं। कांग्रेस, सपा-बसपा पर हमलावर केशव मौर्य ने कहा कि ये लोग नहीं चाहते कि दलितों, शोषितों और पिछड़ों को उनका हक मिले। मुसलमानों को सबसे ज्यादा सुविधाएं भाजपा शासन में ही मिलीं। कार्यकर्ताओं को संगठित करने के उद्देश्य से मौर्य ने कहा, इन्हीं कार्यकर्ताओं के भरोसे सपा-बसपा का गठबंधन होते हुए भी 2019 में भाजपा को प्रदेश में 64 सीटें मिलीं। 51 फीसदी वोट मिले। कहा, प्रधानमंत्री मोदी का सीना 56 इंच से 57 हो सकता है, 55 कभी नहीं होगा। 

विपक्ष विलोमार्थी हो गया है : डॉ¯महेंद्रनाथ पांडेय
वाराणसी। केंद्रीय मंत्री डॉ¯महेंद्रनाथ पांडेय ने कहा कि विपक्ष विलोमार्थी हो गया है। जो भी निर्णय मोदी सरकार लेती है, विपक्षी निर्णय के विलोम (विपक्ष) में हो जाते हैं। धारा 370, नागरिकता संशोधन कानून या कोई और निर्णय हो, उन्हें बस विरोध करना है। कहा, भाजपा जो कहती है वो करके दिखाती भी है। सीएए पर विपक्षी संसद में प्रतिरोध नहीं कर पाए तो हिंसा भड़का रहे हैं। योगी सरकार ने हिंसा करने वालों पर जो कार्रवाई की उसकी देश भर में प्रशंसा हो रही है। डॉ. पांडेय ने कहा कि जिस पार्टी ने 60 साल तक शासन किया, जिसके कार्यकाल में चार बार जनगणना हुई, वह एनपीआर का विरोध कर रही है। उन्होंने एक बार फिर दोहराया कि अब पीओके की बारी है, उसे हम लेकर रहेंगे।

अध्यक्ष पद नहीं तपस्या है: स्वतंत्र देव
दो पूर्व प्रदेश अध्यक्षों केशव मौर्य और डॉ¯महेंद्रनाथ पांडेय की ओर से मिली बधाई के बाद वर्ममान प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव ने माइक संभाला। कहा कि बूथ अध्यक्ष का पद हो या सेक्टर, ब्लाक, जिला और प्रदेश अध्यक्ष का पद, यह तपस्या का पद होता है। यह कुर्सी पर पैर उठाकर बैठने का पद नहीं है। स्वतंत्र देव ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के कामों का जिक्र करते हुए कहा कि देश में पहली बार शहीदों के परिजनों को 30 लाख रुपए और पेट्रोल पंप देने की व्यवस्था उनके ही नेतृत्व में हुई। स्वर्णिम चतुर्भुज योजना से देश को सड़कों से जोड़ा गया। कहा- मोदी सरकार का निर्णय राष्ट्रवाद और गरीबों के लिए है। उज्ज्वला, शौचालय और किसान सम्मान निधि जैसी योजनाओं से उनका उत्थान हो रहा है। स्वतंत्र देव ने सपा-बसपा की सरकारों को भी घेरा। कहा कि 15 सालों तक इन्होंने प्रदेश को सिर्फ लूटा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:CM Yogi said in Kashi CAA opposes conspiracy against the country