ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेश वाराणसीबौद्धायन ने आठ महिला साहित्यकारों का किया सम्मान

बौद्धायन ने आठ महिला साहित्यकारों का किया सम्मान

बौद्धायन सोसाइटी की ओर से रविवार को 13वें कवयित्री सम्मेलन का आयोजन तुलसीपुर स्थित पाणिनि कन्या महाविद्यालय के सभागार में हुआ। सम्मेलन में राष्ट्रीय...

बौद्धायन ने आठ महिला साहित्यकारों का किया सम्मान
हिन्दुस्तान टीम,वाराणसीMon, 04 Dec 2023 02:30 AM
ऐप पर पढ़ें

वाराणसी, प्रमुख संवाददाता।
बौद्धायन सोसाइटी की ओर से रविवार को 13वें कवयित्री सम्मेलन का आयोजन तुलसीपुर स्थित पाणिनि कन्या महाविद्यालय के सभागार में हुआ। सम्मेलन में राष्ट्रीय स्तर की आठ रचनाकारों को विभिन्न सम्मानों से विभूषित किया गया।

पाणिनि कन्या महाविद्यालय की प्राचार्य विदुषी नन्दिता शास्त्री को ‘काशी कस्तूरी सम्मान, दिल्ली की वरिष्ठ साहित्यकार साहित्यभूषण डा. प्रमिला भारती को ‘भागीरथी सम्मान, काशी की वरिष्ठ साहित्यकार,कथाकार डॉ. मुक्ता एवं प्रयागराज से पधारी वरिष्ठ साहित्यकार, पं मदन मोहन मालवीय की प्रपौत्री डॉ. विमला व्यास को ‘अहिल्याबाई सम्मान, दिल्ली की डॉ. ममता सिंह को ‘गोतमी सम्मानसे विभूषित किया गया। उन्हें मुख्य अतिथि राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की सदस्य निर्मला सिंह पटेल ने मानपत्र भेंट किया। संस्था की ओर से पुष्पगुच्छ और स्मृति चिह्न डॉ. सुषमा मिश्र एवं प्रो. मंजुला चतुर्वेदी भेंट किया। इन दोनों विदुषियों को संस्था की ओर से ‘तथागत स्मृति सम्मान प्रदान किया गया। इस अवसर पर लमही से प्रकाशित प्रेमचंद पथ पत्रिका के काशी कवयित्री विशेषांक का विमोचन हुआ। इसके संपादक राजीव गोंड तथा अतिथि संपादक डॉ. मंजरी पाण्डेय हैं। इसके बाद कवि सम्मेलन में 25 कवयित्रियों ने काव्यपाठ किया। संचालन डॉ. मंजरी पाण्डेय, स्वागत डॉ. रामसुधार सिंह तथा धन्यवाद ज्ञापन नवलकिशोर गुप्त ने किया। आचार्य नन्दिता शास्त्री के अध्यक्षीय उद्बोधन के बाद वंदेमातरम् गान के साथ कार्यक्रम ने विराम लिया।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें