DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   उत्तर प्रदेश  ›  वाराणसी  ›  स्वदेश लौटी बनारस की बेटी, ‘हिन्दुस्तान को कहा शुक्रिया

वाराणसीस्वदेश लौटी बनारस की बेटी, ‘हिन्दुस्तान को कहा शुक्रिया

हिन्दुस्तान टीम,वाराणसीPublished By: Newswrap
Tue, 01 Jun 2021 03:21 AM
स्वदेश लौटी बनारस की बेटी, ‘हिन्दुस्तान को कहा शुक्रिया

वाराणसी। वरिष्ठ संवाददाता

एक महीने तक अस्वस्थता, अवसाद और आशंकाओं से घिरी बनारस की बेटी सौम्या सिंह सोमवार को रो पड़ी। मगर यह आंसू तकलीफ नहीं बल्कि तसल्ली के थे। सोमवार दोपहर डेढ़ बजे मालदीव्स सरकार के विशेष चार्टर्ड प्लेन से सौम्या और उसका परिवार तिरुवनंतपुरम पहुंचे। इस 50 सीटर प्लेन में सिर्फ दो भारतीय परिवार सवार थे, जिनमें एक सौम्या का और दूसरा चंडीगढ़ का परिवार था। सौम्या और उसके परिवार ने आपके अपने अखबार ‘हिन्दुस्तान को शुक्रिया कहा है।

अवसाद के बीच परिवार को संभालना था

सौम्या और उसके पति दीपक के कोरोना पॉजिटिव होने के 12वें दिन उनकी तीन माह की बेटी आद्विका भी पॉजिटिव हो गई। मालदीव्स की राजधानी मेल शहर स्थित आइसोलेशन सेंटर में बिताए एक महीने का जिक्र करते हुए सौम्या बताती हैं कि हर दिन कोरोना से किसी न किसी के जाने की सूचना मिलती तो मन में डर बैठ जाता था। परिवार से बात होती थी। उनके ढांढस बंधाने वाले शब्द भी अवसाद से भर देते थे। कहीं से कोई मदद नहीं, सिर्फ आश्वासन मिल रहे थे। पति और बेटी के साथ ही ऐसे में खुद को भी संभालना था। सबसे जरूरी था कोरोना से जीतना क्योंकि उसके बिना घरवापसी संभव ही नहीं थी। ईश्वर की कृपा, परिवार के आशीर्वाद और ‘हिन्दुस्तान की मदद के बिना यह संभव नहीं हो पाता।

रात 12 बजे मिला बेटी का रिलीज ऑर्डर

सौम्या ने बताया कि बेटी का रिलीज आर्डर मिलने में देर हुई, क्योंकि कोई बाल रोग विशेषज्ञ उपलब्ध नहीं था। हालांकि अधिकारियों ने तेजी दिखाई और विशेषज्ञ से जांच कराने के बाद रात 12 बजे आर्डर मिल सका। मालदीव्स सरकार ने भारत लौटने वालों के लिए अपनी एयरलाइन्स का विशेष विमान भेजा। सुबह साढ़े दस बजे मेल शहर से उड़े इस विमान से दो भारतीय परिवार तिरुवनंतपुरम लौट सके। वहां आइसोलेशन सेंटर में अब भी 35 परिवार हैं, जो मालदीव्स के अलावा अन्य देशों से हैं। सौम्या ने बताया कि रात आठ बजे तिरुवनंतपुरम से एयर इंडिया के विमान से उसका परिवार दिल्ली जाएगा। यहां से वह गुरुग्राम स्थित ससुराल जाएगी।

संबंधित खबरें