DA Image
8 अगस्त, 2020|11:54|IST

अगली स्टोरी

बलिया: फौजी के घर डकैतों का धावा, फायरिंग के बाद भी ग्रामीणों ने दिखाई बहादुरी, दो लुटेरे दबोचे

बलिया में सिकन्दरपुर के नेहता गांव में बुधवार की रात हथियारबंद आधा दर्जन से अधिक डकैतों ने एक फौजी के घर पर धावा बोल दिया। ग्रामीणों ने बहादुरी दिखाई और फायरिंग के बाद भी दो लुटेरों को दबोच लिया। गोली लगने से फौजी के चाचा की हालत गंभीर है। उन्हें वाराणसी रेफर किया गया है। घटना की जानकारी मिलते ही एसपी देवेंद्र नाथ भी मौके पर पहुंचे। पकड़े गए बदमाशों से अन्य लुटेरों के बारे में पता किया जा रहा है। 

नेहता गांव में सगे भाई दीनानाथ और केदार यादव अगल बगल रहते हैं। दीनानाथ का एक बेटा सुनील सेना में और दूसरा अनिल पुलिस में है। बुधवार की रात करीब 12 बजे हथियारों से लैस आधा दर्जन से अधिक डकैतों ने दीनानाथ के घर धावा बोल दिया। मकान के पीछे से छत पर लुटरे चढ़ने लगे। इसी दौरान पड़ोस के एक व्यक्ति की नजर पड़ गई। उन्होंने मोबाइल से दीनानाथ के परिवार के लोगों को जानकारी दी। 

बगल में केदार यादव के परिवार तक भी सूचना पहुंची। गांव के कई लोग भी जुटने लगे। पुलिस को खबर देने के साथ ही ग्रामीणों ने मकान को चारों तरफ से घेर लिया। खुद को घिरता देख डकैत बिना लूटपाट ही छत से कूदकर भागने लगे। गांव के लोगों ने डकैतों को पकड़ने के लिए ललकारा तो एक ने गोली चला दी। गोली केदार के पेट में लगी।

गोली चलने के बाद भी ग्रामीण डरे नहीं और दो लुटेरों को दबोच लिया। अन्य हवाई फायरिंग करते हुए अंधेरे का फायदा उठाते हुए भाग निकले। गांव पहुंची पुलिस ने पकड़े गए दोनों लुटेरों को अपने कब्जे में लिया। दोनों  के पास से भी हथियार बरामद किया गया है। वहीं, घायल केदार को पहले जिला अस्पताल फिर वाराणसी रेफर कर दिया गया है। उनके पेट में गोली लगी है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Ballia: The dacoits attacked the army s house the villagers showed bravery even after firing two robbers were caught