Baba Vishwanath s Goshala will decorate Anjaneya of Benipur - बेनीपुर के ‘आंजनेय सजाएंगे बाबा विश्वनाथ की गोशाला DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बेनीपुर के ‘आंजनेय सजाएंगे बाबा विश्वनाथ की गोशाला

बेनीपुर के ‘आंजनेय सजाएंगे बाबा विश्वनाथ की गोशाला

बेनीपुर, अकथा स्थित ‘आंजनेय सिद्धपीठ, संकटहरण हनुमान मंदिर परिसर में श्री काशी विश्वनाथ मंदिर की गोशाला बनने जा रही है। आंजनेय शक्तिपीठ के 84 बिस्वा परिसर का एक तिहाई हिस्सा गोशाला के रूप में विकसित होगा। शुरुआत यहां उन्नत नस्ल की 10 देशी गायों से होगी। इन गायों का दूध रोज बाबा विश्वनाथ को अर्पित होगा।

ज्ञात इतिहास के अनुसार 16 वीं सदी में स्थापित आंजनेय पीठ काशी के जाग्रत देवस्थलों में शुमार है। यह दक्षिण भारत के किसी संत की साधनास्थली रहा है। कालांतर में लोगों की उपेक्षा एवं भूमाफियाओं की कुदृष्टि का शिकार हो गया। लगभग डेढ़ दशक पूर्व इसके जीर्णोद्धार का प्रयास शुरू हुआ। तत्कालीन कमिश्नर नितिन रमेश गोकर्ण एवं सुरेशचंद्रा के सहयोग से हनुमान मंदिर प्रबंध समिति के प्रयास न सिर्फ सफल हुए बल्कि मंदिर की 84 बिस्वा जमीन भी बच गई। हनुमान मंदिर प्रबंध समिति के प्रस्ताव पर सन-2017 के दो नवंबर को आंजनेय सिद्धपीठ का प्रबंधन काशी विश्वनाथ मंदिर ने अपने हाथों में ले लिया।

धर्मार्थ मंत्री की पहल

संकटहरण हनुमान मंदिर समिति के संस्थापक संयोजक एवं इस सिद्धपीठ की भूमि बचाने में जान पर खेलने वाले ललित मालवीय बताते हैं कि पिछले 23 माह से हम यहां कुछ अलग करने की कोशिश में लगे रहे हैं। इस क्रम में हमने धर्मार्थ कार्य एवं पर्यटन राज्यमंत्री डा. नीलकंठ तिवारी को सभी बात बताई। साथ में वहां विश्वनाथ मंदिर की गोशाला की स्थापना का प्रस्ताव रखा। डा. नीलकंठ को प्रस्ताव पसंद आया। इसके बाद विश्वनाथ मंदिर प्रशासन सक्रिय हुआ है।

परिसर देख खुश हुए एसडीएम

बुधवार को विश्वनाथ मंदिर के एसडीएम विनोद कुमार सिंह और वहां के तहसीलदार अकथा पहुंचे थे। श्रीसंकट हरण हनुमान मंदिर प्रबंध समिति के सदस्यों के साथ उन्होंने प्रस्तावित गोशाला देखी। मौका मुआयना के बाद अधिकारी प्रसन्न दिखे। एसडीएम ने कहा, इसी माह के अंत तक गोशाला शुरू कर देने की योजना है। साथ ही, हनुमान मंदिर परिसर में सफाई एवं प्रकाश का प्रबंध भी बेहतर किया जाएगा।

पांडेयपुर के उद्यमी उठाएंगे खर्च

पांडेयपुर, हुकुलगंज के उद्यमी संतोष जायसवाल ने पिछले साल जनवरी में गोशाला प्रबंधन का खर्च वहन करने का प्रस्ताव विश्वनाथ मंदिर को दिया था। उनके प्रस्ताव पर मंदिर के तत्कालीन सीईओ एसएन त्रिपाठी सहमति भी दे चुके थे लेकिन तब बात जहां की तहां रुक गई थी। संतोष जायसवाल ने बताया कि 15 दिनों के अंदर हम गंगातीरी, साहीवाल जैसी नस्लों की गाय मंगा लेंगे ताकि गोशाला की शुरुआत जल्द से जल्द हो सके। संतोष जायसवाल ने हनुमान मंदिर परिसर में 50 गायों के लिए शेड बनवा दिया है। शेड का आगे जरूरत के साथ विस्तार करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Baba Vishwanath s Goshala will decorate Anjaneya of Benipur