अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीएचयू: चीफ प्राक्टर पर हमला, छात्रों ने की मारपीट

वीआईपी दर्शन कराने पहुंचे छात्रों का हंगामा

1 / 2वीआईपी दर्शन कराने पहुंचे छात्रों का हंगामा

सुरक्षाकर्मियों ने भांजी लाठी

2 / 2सुरक्षाकर्मियों ने भांजी लाठी

PreviousNext

बीएचयू स्थित काशी विश्वनाथ मंदिर में वीआईपी गेट के रास्ते दर्शन करने से रोके जाने पर क्षुब्ध छात्रों ने मंगलवार को जमकर हंगामा किया। छात्रों को मनाने पहुंची चीफ प्राक्टर प्रो. रोयाना सिंह पर छात्रों ने न केवल हमला कर दिया बल्कि मंदिर के मुख्यद्वार पर स्थित दुकानों को बंद कराने के बाद पथराव भी किया। घटना से दर्शनार्थियों में अफरातफरी मच गई। बाद में सुरक्षाकर्मियों ने छात्रों पर लाठी पटकर खदेड़ा। चीफ प्राक्टर की ओर से नामजद एक छात्र समेत अज्ञात के खिलाफ मारपीट, लूट की लंका थाने में तहरीर दी गई है। वहीं छात्रों ने चीफ प्राक्टर पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाते हुए मंदिर के मुख्यद्वार पर धरना शुरू कर दिया।

घटना दोपहर 2.30 बजे की है। मनोविज्ञान विभाग के तृतीय वर्ष का छात्र अभिषेक यादव दो माह पूर्व एक दुर्घटना में गम्भीर रूप से घायल हो गया था। बीएचयू के ट्रामा सेंटर के आईसीयू में काफी दिनों तक उसका इलाज चला। ठीक होने के बाद महाशिवरात्रि के दिन उसने अपने साथी छात्रों से काशी विश्वनाथ मंदिर मंे दर्शन की इच्छा जतायी। करीब दो दर्जन छात्र उसे गाड़ी में बिठाकर काशी विश्वनाथ मंदिर पहुंचे। दर्शनार्थियों के लिए लगी बैरिकेंडिग के पास रोके जाने पर छात्र भड़क उठे। बाद मंे बैरिकेडिंग उठाकर जबरन छात्र मंदिर के सामने पहुंच गए। मंदिर के मुख्यद्वार पर दर्शनार्थियों की लंबी कतार थी। बाद में छात्रों का समूह अभिषेक यादव को लेकर वीआईपी गेट के पास पहुंचा। वहां पर पहले से मौजूद चीफ प्राक्टर प्रो. रोयाना सिंह से छात्रों ने बीमार छात्रों के बारे में बताया और दर्शन कराने की अनुमति मांगी। 

चीफ प्राक्टर के मुताबिक अभिषेक के साथ दो छात्रों को वीआईपी गेट से जाने की अनुमति दे दी गई। लेकिन बाकी छात्र भी जाने की जिद करने लगे। मना करने पर हंगामा शुरु कर दिया और अपशब्द बोलने लगे। समझाने की कोशिश की तो छात्रों ने हमला कर दिया। यह देख सुरक्षाकर्मियों ने लाठी पटकर छात्रों को खदेड़ा। छात्रों ने फोन कर दूसरे अन्य साथी छात्रों को बुला लिया। थोड़ी ही देर में छात्रों का समूह मुख्यद्वार पर पथराव कर दिया। जिससे कि वहां अफरातफरी मच गई। छात्रों ने नारेबाजी करते हुए दुकानें बंद करा दी। बाद में चीफ प्राक्टर पर दुर्व्यवहार का आरोप लगाते हुए मंदिर के मुख्यद्वार पर धरने पर बैठ गए। सूचना पर सीओ भेलूपुर समेत कई थानों की फोर्स पहुंच गई। सीओ ने समझाने की कोशिश की लेकिन छात्र चीफ प्राक्टर के इस्तीफे की मांग पर अड़े रहे। बाद में छात्रों ने चीफ प्राक्टर के खिलाफ तहरीर दी लेकिन इस्तीफे की मांग को लेकर धरना जारी रहा। 

सामाजिक विज्ञान संकाय के छात्र गौरव पटेल एवं उनके अन्य साथियों ने मेरे साथ न केवल मारपीट की बल्कि गला दबाने की कोशिश की। मेरा मोबाइल व चेन छीन लिया। उनके खिलाफ लंका थाने में तहरीर दी है। 
चीफ प्रॉक्टर बीएचयू  प्रो. रोयाना सिंह

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Attack on BHUsChief Proctor