DA Image
23 जनवरी, 2020|8:26|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एम्स की भर्तियों में लिंग भेद का आरोप, BHU में नर्सिंग के छात्रों ने निकाला मार्च

बीएचयू नर्सिंग स्कूल के छात्रों ने मंगलवार को रुइया हॉस्टल से आईएमएस तक विरोध मार्च निकाला। एम्स के लिए निकली नर्सिंग स्टाफ की भर्ती में लिंगभेद का आरोप लगाया। इस भर्ती को रद करने की मांग की गई। 

छात्रों ने अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) द्वारा नर्सिंग ऑफिसर की भर्ती परीक्षा में हुए लैंगिक भेदभाव का विरोध किया और भर्ती के बहिष्कार की चेतावनी दी।

एम्स पटना और नागपुर एम्स ने नर्सिंग ऑफिसर के लिए महिलाओं को 80 फीसदी और पुरुषों को महज 20 प्रतिशत सीट आरक्षित की है। छात्रों ने कहा कि नर्सिंग कोर्स में प्रवेश लेते समय इस तरह का कोई नियम नहीं रखा जाता है। छात्र इसके खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर करेगे। छात्रों ने कहा कि लिंग के आधार पर भेदभाव आर्टिकल 16 के तहत संविधान के निमय का उलंघन है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Allegations of gender bias among AIIMS recruitments nursing students march out in BHU