DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

UP board result: कॉलेजों, विश्वविद्यालयों में अब होगी दाखिले की मारामारी

बोर्ड परीक्षा : कॉलेजों, विश्वविद्यालयों में अब होगी दाखिले की मारामारी

यूपी बोर्ड परीक्षाओं के रिजल्ट आने के बाद अब दाखिले के लिए मारामारी बढ़ जायेगी। विश्वविद्यालयों और कालेजों में स्नातक की 55 हजार सीटे हैं जबकि दावेदारों की संख्या 70 हजार से अधिक है। अभी सीबीएसई और सीआईएसई बोर्ड के रिजल्ट आने बाकी हैं। 

जिले में इस बार इंटर के 81 फीसदी छात्र सफल रहे। इस आधार पर कुल 39,818 छात्र स्नातक में दाखिले के लिए दौड़ लगाएंगे। ये सिर्फ यूपी बोर्ड के छात्र हैं। सीबीएसई और सीआईएसई बोर्ड के आमतौर पर 15 हजार छात्र पास होते हैं। वहीं बनारस के विश्वविद्यालयों में दाखिले के लिए आसपास के जिलों और दूसरे राज्यों से करीब 15 हजार छात्र प्रवेश परीक्षाओं में शामिल होते हैं। इस तरह लगभग 80 हजार युवा स्नातक में दाखिले की दावेदारी करेंगे जबकि विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में करीब 55 हजार सीटे हैं। बीएचयू में स्नातक की कुल 5951 सीटें हैं। काशी विद्यापीठ में 1435, यूपी कालेज में 1305 और अग्रसेन कन्या पीजी कालेज में 2070 हैं। काशी विद्यापीठ से सम्बद्ध 105 कॉलेजों में 44,200 सीटे हैं। जाहिर है, सीट की तुलना में दावेदार कहीं अधिक हैं। 

विज्ञान और वाणिज्य में अधिक दबाव
विज्ञान और वाणिज्य वर्ग में दाखिले के लिए अधिक मारामारी है। काशी विद्यापीठ से सम्बद्ध बीस कालेजों में ही विज्ञान और वाणिज्य विषय की पढ़ाई होती है। 

छात्राओं के लिए अधिक समस्या
स्नातक कक्षाओं में दावेदारों में छात्राओं की अधिक संख्या है। यूपी बोर्ड में जिले 21,657 लड़कियां पास हुई हैं, जबकि लड़कों की संख्या 18161 हैं। छात्राएं और उनके अभिभावक ऐसे कॉलेज चाहते हैं जहां छात्रावास की सुविधा हो। 

विकल्प और भी हैं
कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में दाखिला न मिलने पर अभ्यर्थियों को निराश होने की जरूरत नहीं है। इंदिरा गांधी ओपेन यूनिवर्सिटी और राजर्षि टंडन ओपेन यूनिवर्सिटी के पाठ्यक्रमों में भी दाखिले के अवसर हैं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Admissions will now be held in colleges universities