ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेश वाराणसीकाशी विश्वनाथ मंदिर में श्रद्धालुओं के लिए बनेगा 700 मीटर लंबा दो मंजिला कारीडोर

काशी विश्वनाथ मंदिर में श्रद्धालुओं के लिए बनेगा 700 मीटर लंबा दो मंजिला कारीडोर

श्रद्धालुओं की सुविधा के मद्देनजर विश्वनाथ मंदिर में दो मंजिला कॉरीडोर बनेगा। यह सात सौ मीटर लंबा होगा। डिजाइन कुछ इस तरह की होगी कि एक साथ तीन हजार श्रद्धालु कॉरीडोर में खड़े हो सकें। इसकी डिजाइन...

काशी विश्वनाथ मंदिर में श्रद्धालुओं के लिए बनेगा 700 मीटर लंबा दो मंजिला कारीडोर
Malayवाराणसी। मुख्य संवाददाताMon, 15 Jan 2018 01:01 PM
ऐप पर पढ़ें

श्रद्धालुओं की सुविधा के मद्देनजर विश्वनाथ मंदिर में दो मंजिला कॉरीडोर बनेगा। यह सात सौ मीटर लंबा होगा। डिजाइन कुछ इस तरह की होगी कि एक साथ तीन हजार श्रद्धालु कॉरीडोर में खड़े हो सकें। इसकी डिजाइन तैयार करने की जिम्मेदारी दिल्ली की एक कंपनी को सौंपी गई है। दो दिन पहले कंपनी की तीन सदस्यीय आर्किटेक्ट टीम ने मंदिर परिसर का अवलोकन कर वीडियोग्राफी की। 

बकौल मुख्य कार्यपालक अधिकारी एसएन त्रिपाठी, कॉरीडोर की अगले 15 दिन में डिजाइन मिल जाएगी। न्यास परिषद से मंजूरी के बाद कॉरीडोर का निर्माण शुरू कर दिया जाएगा। अब तक कॉरीडोर की व्यवस्था जम्मू के वैष्णो देवी मंदिर में है। ऐसी ही व्यवस्था विश्वनाथ मंदिर के विस्तारीकरण योजना के तहत भी होने जा रही है। यह कॉरीडोर पाचो पांडवा के पास बनेगा। यहां के आसपास के भवनों का क्रय मंदिर प्रबंधन पहले ही कर चुका है। इनमें 70 फीसदी भवनों को गिराया भी जा चुका है। सिर्फ एक भवन ऐसा है जिसे क्रय करने की बातचीत अंतिम दौर में है। पांचो पंडवा से कॉरीडोर सीधे सरस्वती फाटक गेट से होते हुए मंदिर के अंदर उतरेगा।  

आठ सौ मीटर का बनेगा बैंक्वेट हॉल
बाबा का दर्शन-पूजन करने के बाद श्रद्धालुओं को कुछ देर आराम से बैठने के लिए भी मंदिर प्रबंधन व्यवस्था करने जा रहा है। पांचो पांडवा के पास में ही आठ सौ मीटर लंबा एक बैंक्वेट हाल बनेगा। आर्किटेक्ट टीम के मुताबिक बैंक्वेट हाल के पास से ही कॉरीडोर गुजरेगा। बैंक्वेट हाल में बैठे लोग आराम से कारीडोर के रास्ते मंदिर पहुंच सकेंगे। 

हाल में दिखेगी काशी की संस्कृति 
वैंक्वेट हाल में काशी की संस्कृति की झलक दिखायी देगी। दीवारों पर मानस मंदिर, संकटमोचन, गंगाघाट, मणिकर्णिका, हरिश्चन्द्र, अस्सी, मानमंदिर समेत प्रमुख घाटों के चित्र उकेरे जायेंगे।  इसके अलावा शहर के प्रमुख मंदिरों की जानकारी भी मिलेगी। 

16 फीट होगा चौड़ा रास्ता
विश्वनाथ मंदिर में अभी श्रद्धालुओं को को तीन फीट चौड़ी गलियों से होकर बाबा तक पहुंचना पड़ता है। आने वाले दिनों में  16 फीट चौड़ा रास्ता बनाने की तैयारी है। इस मार्ग पर भी छाजन के साथ ही पीने के पानी एवं बुजुर्गो के बैठने का इंतजाम होगा। यह मार्ग विश्वनाथ मंदिर के मुख्यद्वार के सामने बने पुलिस चौकी से कालिकागली के बीच बनेगा। इसकी भी रूपरेखा तैयार हो चुकी है। 

विस्तारीकरण के मद्देनजर खास योजना
- पांचो पांडवा से सरस्वती फाटक तक गली चौड़ी करने का प्रस्ताव 
-गली चौड़ीकरण के मद्देनजर दुकानदारों से बातचीत जारी, सहमति के आधार पर ही चौड़ीकरण होगा
-दुकानदारों को मुआवजा देने के साथ उनकी दुकानों का निर्माण भी कराया जायेगा
-ढुंढिराज गणेश, नीलकंठ द्वार समेत अन्य प्रवेश मार्गों के चौड़ा करने की योजना 

विश्वनाथ मंदिर परिक्षेत्र के विस्तारीकरण योजना के तहत कई काम होने हैं। दूरदराज से आने वाले श्रद्धालुओं को बेहतर सुविधा उपलब्ध करायी जाएगी ताकि वे आसानी से दर्शन कर सकें। 
एसएन त्रिपाठी, मुख्य कार्यपालक अधिकारी, विश्वनाथ मंदिर  

epaper