DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूर्वांचल के दस जिलों से चुने जाते हैं 13 सांसद, जानिये पिछले चुनाव में कौन सबसे ज्यादा वोटों से जीता

लोकसभा चुनाव 2019 की घोषणा के साथ ही राजनीतिक माहौल गरमा गया है। चट्टी चौराहों से लेकर अड़ियों पर अब केवल चुनाव की ही चर्चा है। लोग अपने-अपने हिसाब से वोटों की गणित एक-दूसरे को समझा रहे हैं। पिछले चुनाव में प्रत्याशियों को मिले वोट ही इस गुणा गणित का केद्र बिन्दु हैं। आइये हम भी आपको बताएं कि पिछले लोकसभा चुनाव में पूर्वांचल की स्थिति क्या थी। पूर्वांचल में कितनी लोकसभा सीटें हैं? किस-किस जिले में एक से ज्यादा सीटें हैं। कौन सा प्रत्याशी सबसे ज्यादा वोटों से जीत हासिल कर सका और कौन सबसे कम वोटों से जीता। 

पूर्वांचल के दस जिलों वाराणसी, सोनभद्र, बलिया, गाजीपुर, मऊ, आजमगढ़, मिर्जापुर, जौनपुर, भदोही और चंदौली में लोकसभा की 13 सीटें हैं। तीन जिलों जौनपुर, बलिया और आजमगढ़ में दो-दो और अन्य में एक-एक सीटें हैं। जौनपुर में जौनपुर अौर मछलीशहर सीट है। बलिया में बलिया अौर सलेमपुर सीट है। आजमगढ़ में आजमगढ़ अौर लालगंज सीट है। मऊ जिले की सीट को घोसी और सोनभद्र की सीट को राबर्ट्सगंज के नाम से जाना जाता है।

एनडीए को 13 में से 12 सीटें मिलीं

पिछले लोकसभा चुनाव में एनडीए को पूर्वांचल की 13 में से 12 सीटों पर जीत हासिल हुई थी। भाजपा ने खुद 11 सीटों पर कब्जा जमाया था। एक सीट भाजपा की सहयोगी अपना दल को मिली। आजमगढ़ सीट समाजवादी पार्टी ने जीती थी। बसपा ने कोई सीट भले ही नहीं जीती लेकिन उसके प्रत्याशी सबसे ज्यादा आठ सीटों पर दूसरे स्थान पर रहे। 

वाराणसी पर टिकी रहीं पूरे देश की निगाहें
भाजपा के प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी नरेंद्र मोदी के वाराणसी संसदीय क्षेत्र से लड़ने के कारण पूरे देश की निगाहें पूर्वांचल पर टिक गई थीं। इस बार भी कमोवेश वैसी ही स्थिति रहने की उम्मीद है। माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक बार फिर से वाराणसी से ही लड़ने की संभावना है। ऐसे में फिर से पूरे देश की निगाहें न सिर्फ वाराणसी बल्कि पूरे पूर्वांचल पर रहेंगी। 

मोदी सबसे ज्यादा, मनोज सिन्हा सबसे कम वोटों से जीते
पिछले चुनाव में नरेंद्र मोदी को न सिर्फ सबसे ज्यादा वोट मिले बल्कि सबसे ज्यादा मार्जिन से भी उनकी जीत हुई थी। उन्होंने आम आदमी पार्टी के अरविंद केजरीवाल को 3 लाख 71 हजार 784 वोटों से हराया था। वहीं गाजीपुर सीट से मैदान में उतरे मनोज सिन्हा पूर्वांचल में सबसे कम मार्जिन से जीते थे। उन्होंने सपा की शिवकन्या कुशवाहा को 32 हजार 4 सौ 52 वोटों से हराया था।  

 

सीट
 
     विजेता    पार्टी         उपजेता           पार्टी    जीत का अंतर
वाराणसी नरेद्र मोदी    भाजपा अरविंद केजरीवाल आम आदमी पार्टी  371784
सलेमपुर रवींद्र कुशवाहा       भाजपा रविशंकर सिंह  बसपा  232342
मिर्जापुर  अनुप्रिया पटेल      अपना दल  समुंद्र बिंद बसपा        219079
राबर्ट्सगंज छोटेलाल     भाजपा शारदा प्रसाद बसपा        190486
मछलीशहर रामचरित्र निषाद      भाजपा बीपी सरोज बसपा 172155
भदोही वीरेंद्र सिंह     भाजपा          राकेश धर त्रिपाठी      बसपा         158039
चंदौली महेंद्र नाथ पांडेय भाजपा  अनिल कुमार मौर्य बसपा 156756
जौनपुर कृष्ण प्रताप सिंह भाजपा सुभाष पांडेय  बसपा 146310
घोसी हरिनारायन राजभर भाजपा दारा सिंह चौहान बसपा 146015
बलिया भरत सिंह भाजपा नीरज शेखर सपा 139434
आजमगढ़ मुलायम सिंह यादव सपा रमाकांत यादव भाजपा 63204
लालगंज नीलम सोनकर भाजपा बेचई सरोज सपा 63086
गाजीपुर मनोज सिन्हा भाजपा शिवकन्या कुशवाहा सपा 32452

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:13 MPs are elected from ten districts of Purvanchal know who got the maximum votes in the last election