DA Image
27 नवंबर, 2020|6:45|IST

अगली स्टोरी

महामारी से बचाती है यज्ञ की ऊर्जा

default image

विश्व कल्याण की कामना के लिए रविवार को गायत्री शक्ति पीठ परिसर में यज्ञ का आयोजन किया गया। कोविड 19 प्रोटोकाल का पालन करते हुए चार साधकों ने यज्ञ किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि यज्ञ की ऊर्जा कोरोना जैसे महामारी से बचाती है।

यज्ञीय वातावरण के बीच छह बटुकों का यज्ञोपवीत संस्कार भी हुआ। शांतिकुंज हरिद्वार से प्रशिक्षित आचार्य चंद्रकिशोर द्विवेदी ने बताया कि यज्ञोपवीत गायत्री की मूर्तिमान प्रतिमा है। यह सदैव रक्षा कवच का काम करता है। व्यवस्थापक सिद्धिनाथ श्रीवास्तव ने बताया कि यज्ञोपवीत का भारतीय धर्म में सर्वोपरि स्थान है। यह हमें माता -पिता के प्रति कर्तव्य पालन की प्रेरणा देता है। सभी बटुकों के मंगलमय जीवन की कामना की गई। इसके अलावा उन्हें संकल्प दिलाया गया कि वह कोविड 19 प्रोटोकाल का पालन करेंगे और दूसरों को भी जागरूक करेंगे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Yagya saves energy from epidemic