अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गंगा नहाने गए दो छात्र तेज धारा में बहकर लापता

गंगा नहाने गए दो छात्र तेज धारा में बहकर लापता

घर से क्रिकेट खेलने की बात कहकर गंगा नहाने पहुंचे दो छात्र डूबकर लापता हो गए। गंगा में डूबते छात्रों को एक युवक ने छलांग लगाकर बचाने का प्रयास किया लेकिन उससे पहले वह गंगा की तेज धारा में बह कर गुम हो गए। घटना की जानकारी पर पुलिस ने गोताखोंरो की मदद से काफी देर तक उन्हें ढूढ़ने की कोशिश की। देर रात तक उनको खोज पाने में सफलता हाथ नहीं लग सकी।

रविवार शाम को कक्षा 10 के दो छात्र आलोक रंजन (16) और अभिषेक यादव (16) निवासी श्री नगर घर से क्रिकेट खेलने को निकलने थे। जहां से वह दोनों नहाने गंगा चले गए। गंगा में नहाते वक्त वह गहरे पानी में जाने से डूब कर लापता हो गए। जो कई बार गोते खाने के बाद काफी दूर बह गए। दोनों छात्रों के डूबने पर पुराने पुल के नीचे रहने वाले शिवम निषाद की नजर पड़ी तो वह उसने वैसे छलांग लगाकर उन्हें बचाने का प्रयास किया लेकिन उन्हें ढुढ़ने में उसे सफलता हासिल नहीं हुई। सूचना पर पहुंचे इंस्पेक्टर दिनेश चंद्र मिश्रा, एसएसआई रवीन्द्र सिंह भदौरिया ने आधा दर्जन गोताखोरों को बुलाया और देर रात तक लापता युवकों की तलाश करते रहे लेकिन युवक तक पहुंचने पाने में उनकी सारी कार्रवाई नाकाम रही। देर शाम को आलोक की बहन ने कपड़ों के जरिए उसकी पहचान अपने भाई के रूप में की।

जल पुलिस होती तो न बहते युवक

बाढ़ के दौरान जिला प्रशासन ने एक प्लाटून जल पुलिस तैनात करा दी थी। मिश्रा कॉलोनी बाढ़ केन्द्र पर जल पुलिस मौजूद रही, अगर भदई मेले में अपने वोट उतारे होते तो युवकों को बचाया जा सकता था।

प्रशासन की लापरवाही से हुई घटना

जिस जगह पर दोनों युवक गंगा में बहे हैं, वहां पर बैरीकेटिंग नहीं लगी थी। इसके बावजूद प्रशासन की ओर से नहाने से रोका नहीं गया। अगर रोक टोक होती तो घटना टल जाती।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Two students drowned in Ganga