DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीन घरों से चोरों ने लाखों रुपए की नगदी व जेवरात पार

तीन घरों से चोरों ने लाखों रुपए की नगदी व जेवरात पार

थाना क्षेत्र के सुपासी गांव स्थित तीन घरों से शनिवार की रात चोरों ने जमकर उत्पात मचाते हुए लाखों रुपए की नगदी व 7 लाख रुपए के जेवरात पार कर ले गए। गृहस्वामी की सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौके पर पहुंच कर जांच पड़ताल कर वापस लौट गई।

सुपासी गांव में रहने वाले राकेश मिश्र ने पुलिस को तहरीर देकर बताया कि शनिवार की रात चोर उनके घर में छत के रास्ते जीने से मकान में प्रवेश किया। कमरे का ताला तोड़ उसमें रखे बक्से व अटैची उठा ले गए। सुबह जागने पर कमरे के दरवाजे खुले देखकर शक हुआ। जब अंदर जाकर देखा गया तो सारा सामान बिखरा पड़ा था। थोड़ी देर बाद शौच को गए ग्रामीणों ने बताया कि बाहर खेतों में टूटे बक्से पड़े हैं। बक्से में रखे सत्तर हजार रुपए व सोने चांदी के आभूषण की कीमत करीब चार लाख रुपए चोर उठा ले गए हैं। जबकि कपड़े आदि वहीं पड़े हुए थे। इसी क्रम चोरों ने दूसरा निशाना सुपासी के ही देशराज यादव के मकान को बनाया। यहां भी चोर छत से आंगन में उतर कमरे का ताला तोड़ बक्से आदि बाहर ले गए और उसमें रखे 54 हजार रुपए व सोने चांदी के जेवरात जिनकी कीमत दो लाख के आसपास बताई जा रही है। उसे पार करने में सफल रहे। तीसरा पीड़ित महेंद्र सिंह ने बताया कि चोर उनके घर में घुस कर कमरे का ताला तोड़ दिया। मगर खट पट की आवाज से परिवार के लोग जाग गए। मगर चोर एक मोबाइल व दस का नोट उठा ले गए। चोरों ने घर के पिछले दरवाजे को तोड़ कर भाग निकले और मोबाइल तोड़ कर नोट को फाड़कर फेंक गए। पीड़ित की सूचना पर बदरका चौकी प्रभारी अनिल अवस्थी मौके पर पहुंचे और घटनास्थल का मुआयना कर बिखरा समान समेटवा कर घरों में रखवा दिया। पीड़ितों ने थाने में लिखित तहरीर दे दी है।

दहशतजदा ग्रामीण रात जागकर घरों की कर रहे सुरक्षा

थाने की बदरका पुलिस चौकी क्षेत्र में इन दिनों चोरियों की बाढ़ आ गई है। आए दिन हो रही घटनाओं से ग्रामीण दहशतजदा है। रात जाग कर अपने घरों की सुरक्षा कर रहे हैं। सुपासी गांव के तीन घरों में एक साथ हुई तीन चोरी की वारदातें नई नहीं है। इसके पहले गत एक पखवाड़े के अंतराल में कुर्मापुर गांव निवासी शकुंतला के साथ दो बार मंदिर में घंटा चोरी, 18 अगस्त को बदरका के मिश्रीलाल व करौंदी निवासी कमलेश यादव के मकानों में एक ही पैटर्न पर चोरी के साथ रावल में हुई घटनाओं का खुलासा होना तो दूर पुलिस ने ज्यादातर मामलों की एफआईआर भी दर्ज नहीं की। जिससे चोरों के हौसले बुलंद है और वह पुलिस को चुनौती पर चुनौती देते चले जा रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Thieves carry cash and jewelery worth millions of rupees from three houses