DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कासिम नगर में न तो हवा अच्छा और न ही पानी

कासिम नगर में न तो हवा अच्छा और न ही पानी

कासिम नगर में विकास के सभी वादे दम तोड़ चुके है।

यहां की आबोहवा कुछ अच्छी नहीं है। साफ-सफाई की कौन कहे पीने का पानी इतना दूषित है कि गले से नहीं उतरता। फैक्ट्री से निकले मलबों का दुर्गंध और गंदगी की वजह से मोहल्लें के लोग परेशान है। विकास की रफ्तार कुछ इस से थमी है कि यहां चलने के लिए अच्छा रास्ता भी नहीं है। प्रदूषण के बीच मोहल्ले के लोगों की जिंदगी किसी तरह से घिसट रही है। चुनाव के समय तमाम वादों करने वाले प्रतिनिधि मोहल्ले की दुश्विारियों को दूर करने में नाकाम रहे है। नगर पालिका परिषद और जिला प्रशासन भी शहर को साफ-सुथरा बनाने को लेकर संजीदा नहीं है। फ्लोराइड युक्त पानी, हवाओं में दुर्गंध, गलियांे में गंदगी, बल्लियों के सहारे बिजली, जाम हुई नालियां अब इस मोहल्ले की पहचान बन चुकी है। यहां रहने वाले 12 हजार की आबादी गुस्से में है। लोगों को इस बात का दु:ख का है। जिला मुख्यालय के नजदीक होने के बाद भी उनके मोहल्ले की स्थिति किसी पिछड़े गांव से भी बद्तर है। मोहल्ले में सार्वजनिक न होने की वजह से लोगों को फजीहत छेलनी पड़ती है। आक्रोशित लोगों की मांग है कि मोहल्ले की दुश्वारियांे केा दूर करके यहां का चौहमुखी विकास कराया जाए। ताकि लोग सुकून से खुली हवा में सांस ले सके।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:There is neither good nor good water in Qasim Nagar