DA Image
4 जुलाई, 2020|9:41|IST

अगली स्टोरी

सब सेंटर्स न खुलने से इलाज के लिए लगा रहे लंबी दौड़

default image

कई सालों से मातृत्व शिशु कल्याण केंद्रों पर लटक रहे हैं तालेइलाज के लिए बिछिया व पुरवा तक की दौड़ लगा रही गर्भवती महिलाएं फोटो नंबर-18-मंगतखेड़ा में बंद पड़ा सब सेंटर। असोहा। हिंदुस्तान संवाद गर्भवती महिलाओं को घर के नजदीक ही इलाज उपलब्ध कराने के उद्देश्य से बनाए गए चार सब सेंटर्स पर कई सालों से ताले लटक रहे हैं। सब सेंटर्स न खुलने से महिला मरीजों को कई किलोमीटर की लंबी दौड़ लगानी पड़ रही है। सेंटर्स क्रियाशील हो सके इसके लिए जनप्रतिनिधियों ने भी कई बार स्वास्थ्य अधिकारियों से पत्राचार किया लेकिन उन्हें संचालित नहीं किया जा सका। असोहा विकासखंड क्षेत्र के मंगतखेड़ा, दऊ, हबूसा और झकवासा में सब सेंटर्स (मातृत्व शिशु कल्याण केंद्र) का निर्माण एक दशक पूर्व कराया गया था। इन सब सेंटर्स पर एएनएम की तैनाती कर गर्भवती महिलाओं की जांच की सुविधा उपलब्ध कराई गई थी। कुछ दिनों तक तो सेंटर्स क्रियाशील रहें हालांकि बाद में इनमें ताला पड़ गया। इससे गर्भवती महिलाओं को इलाज के लिए पुरवा व बिछिया की दौड़ लगा नी पड़ रही है। मझखोरिया ग्राम प्रधान शिवनारायण साहू, मंगतखेड़ा प्रधान रामकमल, झकवासा प्रधान प्रदीप शुक्ला व दऊ प्रधान बरातीलाल ने बताया कि उपकेंद्र के संचालन के संबंध में स्वास्थ्य अधिकारियों से वार्ता की गई थी। उन्होंने आश्वासन भी दिया लेकिन उनका संचालन शुरू नहीं हो सका। कई सालों से ताला लटकने से सब सेंटर्स जर्जर हो गए हैं। इनसेटएएनएम की कमी की वजह से सब सेंटर्स का संचालन नहीं हो पा रहा है। नियुक्ति के बाद ही निर्णय लिया जा सकता है। टीकाकारण सत्र पर सब सेंटर्स खोले जाते हैं। डॉ. वीपी सिंह, प्रभारी चिकित्साधिकारी, असोहा।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Long run for treatment due to non-opening of all centers