DA Image
23 सितम्बर, 2020|6:45|IST

अगली स्टोरी

लॉकडाउन: 90 फीसदी कॉपियों का मूल्याकंन बाकी

default image

कोरोना महामारी के संकट ने उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन कार्य पर भी पूरी तरह से ब्रेक लगा रखी है। जिसकी वजह से 90 फीसदी उत्तर पुस्तिकाओं की जांच अभी भी लटकी हुई है। 3 मई से लॉकडाउन की समयसीमा समाप्त होने के आसार दिखने पर 5 मई से मूल्यांकन कार्य होने के कयास लगाए जा रहे है। हालांकि अभी विभागीय स्तर पर कोई आदेश न आने से इस पर पूरी तरह से सहमति जता पाना मुश्किल है।

यूपी बोर्ड हाईस्कूल इंटरमीडिएट की परीक्षाएं मार्च में समाप्त हुई थी। जिसके बाद मूल्यांकन कार्य की कवायद शुरू की गई थी। इस बीच कोरोना महामारी का संकट इस कवायद में बाधा गया। जिसकी वजह से उत्तर पुस्तिकाओं का करीब 90 फीसदी कार्य बीच में लटक गया। जिले के पांच केन्द्रों में मूल्यांकन चल रहा था, जो 18 अप्रैल से लॉकडाउन की वजह से बंद हो गया था। इस मामले में डीआईओएस राकेश कुमार ने बताया कि 5 मई से मूल्यांकन शुरू होने की बात सुनी है मगर लिखित आदेश अभई नहीं आया है। यदि आदेश आता है तो काम शुरू कराया जाएगा।