DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किसानों ने ट्रांस गंगा हाईटेक सिटी पर जमाया कब्जा

किसानों ने ट्रांस गंगा हाईटेक सिटी पर जमाया कब्जा

शंकरपुर, कन्हवापुर और मनभौना तीनों गांवों के सैकड़ों किसानों की भूमि यूपीएसआईडीसी ने दस साल पहले अधिग्रहित की थी।

दस माह पहले किसानों ने गलत अधिग्रहण का आरोप लगा कर जमीन वापस मांगने लगे। मंगलवार को डीएम ने यूपीएसआईडीसी और किसानों के साथ वार्ता कराने का समय दिया था। डीएम नहीं मिले, जिससे गुस्साए किसानों ने बुधवार सुबह ट्रांस गंगा हाईटेक सिटी के साइड आफिस पर कब्जा जमा लिया। एसडीएम, सिटी मजिस्ट्रेट ने समझाने की कोशिश की, अधिशाषी अभियंता की तहरीर पर पंद्रह नामजद समेत तीन सौ अज्ञात किसानों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

जिलाधिकारी रवि कुमार एन जी ने मंगलवार को किसानों की कमेटी और यूपीएसआईडीसी के अधिकारियों के बीच वार्ता कराने के लिए समय दिया था। वह लखनऊ मीटिंग में चले गए और किसानों की मध्यस्ता नहीं करा सके। जिससे गुस्साए सैकड़ों किसानों ने बुधवार सुबह ट्रांस गंगा हाईटेक सिटी के साइड आफिस पहुंचे और कब्जा जमा लिया। सुबह ट्रांस गंगा के अधिशाषी अभियंता बी डी यादव, सहायक अभियंता नागेन्द्र, एन पी एस सिसोदिया आफिस पहुंचे। जहां किसानों ने उन्हें खदेड़ दिया, सूचना पाकर एसडीएम सदर पूजा अग्निहोत्री, सिटी मजिस्ट्रेट राम प्रसाद, कोतवाल दिनेश चंद्र मिश्रा, महिला थाना प्रभारी समेत भारी पुलिस बल के साथ पहुंच गए। किसानों को साइड आफिस से हटने को कहा लेकिन उन्होंने एक न सुनी, शाम चार बजे तक सैकड़ों किसान डटे रहे। अंत में गुरूवार को डीएम से मिलने के लिए तैयार हो गए। धरने में सनोज यादव, हीरेन्द्र निगम, बद्री निषाद, रमेश कुशवाहा, गीतेन्द्र यादव, सुशील त्रिवेदी, उमेश शुक्ला, बृजेश सिंह, महेश्वरी यादव, पुकारे अवस्थी, रामू आदि सैकड़ों किसान मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Farmers occupy Trans Ganga High Tech City