ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशपुलिस की पिटाई से युवक की मौत, आक्रोशित भीड़ ने चौकी में जमकर किया हंगामा, मौके से फरार हुआ दरोगा

पुलिस की पिटाई से युवक की मौत, आक्रोशित भीड़ ने चौकी में जमकर किया हंगामा, मौके से फरार हुआ दरोगा

देवरिया में पुलिस की पिटाई से एक युवक की मौत हो गई। परिजनों का आरोप है कि बरहज थाना क्षेत्र के सतरांव चौकी पर तैनात दरोगा और कुछ पुलिसकर्मियों ने सोमवार रात उसे बेरहमी से मारा था।

पुलिस की पिटाई से युवक की मौत, आक्रोशित भीड़ ने चौकी में जमकर किया हंगामा, मौके से फरार हुआ दरोगा
Pawan Kumar Sharmaहिन्दुस्तान,देवरियाTue, 21 May 2024 09:59 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी के देवरिया में पुलिस की पिटाई से एक युवक की मंगलवार की शाम मौत हो गई। परिजनों का आरोप है कि बरहज थाना क्षेत्र के सतरांव चौकी पर तैनात दरोगा व कुछ पुलिसकर्मियों ने सोमवार की रात उसे बेरहमी से मारा था। इस मामले में एसपी ने आरोपी दरोगा को हटाने के साथ ही केस दर्ज करने का निर्देश दिया है। जानकारी के मुताबिक मेडिकल कॉलेज में बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ जमा थी।

बरहज थाना क्षेत्र के सतरावं का रहने वाला 30 साल का दद्दन यादव सोमवार की देर शाम सतरांव चौराहे पर गया था। मिली जानकारी के अनुसार उसी दौरान सतरांव पुलिस चौकी पर तैनात पुलिसकर्मियों ने उसे बुलाया तो वह भागने लगा। पुलिसकर्मियों ने उसे दौड़ा कर पकड़ लिया। इसके बाद वे उसे लेकर पुलिस चौकी पर चले गए। आरोप है कि उसी दौरान चौकी इंचार्ज व कुछ पुलिसकर्मियों ने पूछताछ करने के नाम पर उसे बेरहमी से पीटा। जिसके बाद वह खून की उल्टी करने लगा। घटना की जानकारी होने पर युवक के परिजन व दर्जनों ग्रामीण रात में पुलिस चौकी पर पहुंचे और हंगामा करने लगे। इसके बाद चौकी इंचार्ज व ग्रामीणों में विवाद होने लगा। उसी दौरान आक्रोशित ग्रामीणों ने चौकी इंचार्ज को दौड़ा लिया। जिसके बाद वह अपनी जान बचा कर वहां से फरार हो गया।

चर्चा है कि गुस्साई भीड़ ने इसके बाद चौकी में जमकर उत्पात मचाया। घटना की जानकारी होते ही रात में पुलिस अधिकारी व कुछ थाने की फोर्स मौके पर पहुंची और हालात को संभाला। पुलिस की पिटाई से घायल दद्दन यादव की तबीयत मंगलवार की सुबह बिगड़ने पर परिजनों ने उसको महर्षि देवरहा बाबा मेडिकल कॉलेज देवरिया में भर्ती कराया गया जहां इलाज के दौरान शाम करीब 7 बजे उसकी मौत हो गई। उसके परिजन पुलिसकर्मियों पर हत्या का आरोप लगा रहे थे। घटना के बाद जुटी भीड़ को देखते हुए अस्पताल में बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी लगा दिए गए। यही नहीं युवक के गांव पर भी पुलिसकर्मियों को तैनात कर दिया गया है।