ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशमुजफ्फरनगर दंगे में आरोपी योगी के मंत्री कपिलदेव अग्रवाल का कोर्ट में सरेंडर, मिली जमानत

मुजफ्फरनगर दंगे में आरोपी योगी के मंत्री कपिलदेव अग्रवाल का कोर्ट में सरेंडर, मिली जमानत

यूपी को हिला देने वाले पश्चिमी यूपी के मुजफ्फरनगर के दंगे में आरोपी योगी सरकार के मंत्री कपिल देव अग्रवाल ने मंगलवार को एमपी-एमएलए की विशेष कोर्ट में सरेंडर कर दिया। उन पर तनाव भड़काने का आरोप है।

मुजफ्फरनगर दंगे में आरोपी योगी के मंत्री कपिलदेव अग्रवाल का कोर्ट में सरेंडर, मिली जमानत
Yogesh Yadavभाषा,मुजफ्फरनगरTue, 27 Sep 2022 05:54 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

पूरे यूपी को हिला देने वाले पश्चिमी यूपी के मुजफ्फरनगर के दंगे के मामले में आरोपी योगी सरकार के मंत्री कपिल देव अग्रवाल ने मंगलवार को एमपी-एमएलए की विशेष कोर्ट में सरेंडर कर दिया। कपिल देव अग्रवाल पर दंगे से ठीक पहले सांप्रदायिक तनाव भड़काने और निषेधाज्ञा का उल्लंघन करने का आरोप है। कपिल देव अग्रवाल के अलावा भाजपा के पूर्व सांसद सोहन वीर सिंह समेत छह अन्य  आरोपियों ने भी सरेंडर किया। कोर्ट से सभी को जमानत भी मिल गई है। 2013 में हुए मुजफ्फरनगर दंगों में 60 से ज्यादा लोग मारे गए थे और 40,000 से अधिक लोगों को अपना घर बार छोड़ना पड़ा था।

अभियोजन अधिकारी नीरज सिंह ने बताया कि 30 अगस्त 2013 को निषेधाज्ञा लागू होने के बावजूद नगला मडोर गांव में आयोजित महापंचायत में भड़काऊ बयानबाजी कर तनाव फैलाने के आरोपी उत्तर प्रदेश के मौजूदा कौशल विकास राज्यमंत्री कपिल देव अग्रवाल, पूर्व सांसद सोहन वीर सिंह, पूर्व विधायक अशोक कंसल, भारतीय जनता पार्टी के पूर्व जिला अध्यक्ष यशपाल पंवार, विश्व हिंदू परिषद नेता साध्वी प्राची और समाजवादी पार्टी नेता हरेंद्र मलिक ने विशेष एमपी/एमएलए अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया। 

उन्होंने बताया कि विशेष न्यायाधीश मयंक जयसवाल ने इन आरोपियों के खिलाफ जारी गैर जमानती वारंट वापस लेते हुए सभी को दोनों मामलों में 20-20 हजार रुपए के दो मुचलकों के आधार पर जमानत दे दी। सिंह ने बताया कि इन लोगों पर आरोप है कि उन्होंने मुजफ्फरनगर दंगों से पहले 30 अगस्त 2013 को निषेधाज्ञा का उल्लंघन करते हुए नगला मंडोर गांव में आयोजित पंचायत में हिस्सा लिया था और भड़काऊ बयानबाजी की थी।

epaper