अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यूपी: योगी सरकार का दूसरा बजट आज, 4.5 लाख करोड़ रुपये का हो सकता है बजट

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार शुक्रवार को सदन में अपना दूसरा बजट पेश करेगी। वित्तमंत्री राजेश अग्रवाल द्वारा पेश किए जाने वाले इस बजट के किसान, उद्योग, निवेश, रोजगार, कानून व्यवस्था पर केंद्रित होने के संकेत हैं। बजट में राज्यवासियों से संपूर्ण विकास का वादा भी दिखेगा।
 
बजट में दिखेगा साढ़े दस माह का अनुभव
वित्तीय वर्ष 2017-18 का बजट 11 जुलाई को पेश किया गया था। यह बजट 03,84,659,71 करोड़ का था। इस बजट में 36 हजार करोड़ रुपये किसान कर्जमाफी के लिए रखा गया था। इसके साथ ही गांव, किसान, गरीब, युवा को रोजगार, पर्यटन, धर्म, विकास आदि को भी बजट में प्राथमिकता दी गई थी। यह बजट प्रदेश सरकार ने जब प्रस्तुत किया था तब सरकार बने महज साढ़े तीन माह ही हुए थे। कल यानी शुक्रवार को जब यह सरकार बजट प्रस्तुत करेगी तो उसमें सरकार के करीब साढ़े दस माह का अनुभव दिखेगा। बजट करीब 4.5 लाख करोड़ के करीब का होने का अनुमान है। यह बजट अब तक का सबसे बड़ा बजट होगा। 
विकास के साथ लोगों को लुभाने की भी होगी कोशिश
इस बजट को 2019 के आम चुनाव की तैयारी बजट के रूप में भी देखा जा रहा है। 2019 के इस चुनाव में उत्तर प्रदेश की अहम भूमिका होगी। बजट में सरकार जन अपेक्षाओं पर खरा उतरने और जनता से किए वादों को पूरा करने की कोशिश करेगी। उद्योग के क्षेत्र में इंफ्रास्ट्रक्चर और उद्योगों से रोजगार सृजन का इंतजाम इस बजट में दिखेगा। वन डिस्ट्रिक वन प्रॉडक्ट योजना पर फोकस रहेगा, इस योजना से भी अधिक से अधिक रोजगार सृजन का काम होगा। विभिन्न योजनाओं में किसानों को अनुदान दिया जा सकता है। बंद पड़ी सहकारी चीनी मिलों को खोलने का इंतजाम बजट में दिखने के आसार हैं। बजट में मूलभूत सुविधाओं पर भी विशेष फोकस रहेगा।  केंद्र सरकार की प्राथमिकता वाली योजनाओं के लिए बजट से भारी भरकम धनराशि दी जाएगी। ग्रामीण क्षेत्रों में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों की स्थापना पर अनुदान दिए जाने की घोषणा हो सकती है। 
इन मदों में बेहतर धनावंटन की उम्मीद है
1- उ.प्र. हैंडलूम, पावरलूम, सिल्क, टेक्सटाइल एंड गारमेंटिंग पालिसी-2017 के प्राविधानों को मूर्त पूर देने के लिए 
2- निजी टेक्सटाइल औद्योगिक पार्कों के प्रोत्साहन के लिए 
3-औद्योगिक निवेश एवं रोजगार प्रोत्साहन नीति-2017 के तहत निवेश प्रोत्साहित करने के लिए 
4- प्रदेश में बनी पहली खादी नीति को धरातल पर उतारने के लिए 
5- मुख्यमंत्री समग्र ग्राम विकास योजना के लिए

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Yogi Governments second budget on friday