ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशयोगी सरकार इन ढाबों, रेस्टोरेंट और होटलों को देगी सब्सिडी, स्मार्ट बनाने की तैयारी

योगी सरकार इन ढाबों, रेस्टोरेंट और होटलों को देगी सब्सिडी, स्मार्ट बनाने की तैयारी

योगी सरकार इन ढाबों, रेस्टोरेंट और होटलों को सब्सिडी देगी। प्रयागराज के मुख्य मार्गों के ढाबों, रेस्टोरेंट और होटलों को नया स्वरूप दिया जा रहा है। इसके लिए प्रदेश सरकार उन्हें सब्सिडी भी दे रही है।

योगी सरकार इन ढाबों, रेस्टोरेंट और होटलों को देगी सब्सिडी, स्मार्ट बनाने की तैयारी
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,लखनऊSat, 22 Jun 2024 10:12 AM
ऐप पर पढ़ें

अगले साल होने वाले महाकुंभ को योगी सरकार भव्य, दिव्य और नव्य स्वरूप देने के प्रयासों में जुटी है। इसी कवायद के क्रम में महाकुंभ पहुंचने वाले पर्यटकों और श्रद्धालुओं को मुख्य मार्गों पर बेहतर सुविधाएं देने के लिए ढाबों, रेस्टोरेंट और होटलों को नया स्वरूप दिया जा रहा है। इसके लिए प्रदेश सरकार उन्हें सब्सिडी भी दे रही है।

प्रयागराज की क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी अपराजिता सिंह ने बताया कि प्रयागराज आने वाले पर्यटकों और श्रद्धालुओं का अनुभव अच्छा हो, इसके लिए प्रदेश सरकार मुख्य मार्गों में पड़ने वाले प्रमुख ढाबों, रेस्टोरेंट और होटलों को स्मार्ट बनाने जा रही है। इसके लिए इनके 75 प्रतिनिधियों का चयन किया गया है, जिन्हे शुक्रवार से ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इनमें लखनऊ-प्रयागराज, कानपुर-प्रयागराज, रीवा-प्रयागराज, चित्रकूट-प्रयागराज, मिर्जापुर-प्रयागराज और वाराणसी-प्रयागराज मार्ग में पड़ने वाले ढाबे, रेस्टोरेंट और होटल शामिल हैं।

प्रशिक्षण में खानपान और स्वच्छता पर फोकस
महाकुंभ के प्रमुख मार्गों पर आने वाले इन चयनित ढाबों, रेस्टोरेंट और होटलों में बुनियादी सुविधाओं की कमी थी। ऐसे में इनमें किचन, सिटिंग एरिया और पार्किंग स्थल को नया स्वरूप देने की योजना तैयार की गयी है। चयनित प्रतिनिधियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। इन्हें सरकार की तरफ से सहयोग और सब्सिडी दोनों दी जा रही हैं। प्रदेश की नई पर्यटन नीति में 22 नई गतिविधियों को जोड़ा है। इसमें वेलनेस रिसार्ट, हेरिटेज होम स्टे, बजट होटल, हेरिटेज होटल, स्टार होटल, ईको टूरिज्म की इकाइयां, कारवां टूरिज्म, यूनिट, प्रदर्शनी, तीर्थयात्रा, धर्मशालाएं, ऑल वेदर सीजनल कैंप, जलाशय, झील, वेलनेस टूरिज्म तथा एडवेंचर टूरिज्म शामिल हैं। इसी का विस्तार करने के लिए प्रमुख मार्गों के बड़े ढाबे, रेस्टोरेंट और होटलों को शामिल किया गया है। इन्हें निवेश के लिए दी जाने वाली राशि में 25 फीसदी की सब्सिडी भी दी जा रही है।