ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशयूपी के लाखों कर्मचारियों को योगी सरकार का तोहफा, वेतन वृद्धि के नए प्रस्ताव पर कैबिनेट की मुहर

यूपी के लाखों कर्मचारियों को योगी सरकार का तोहफा, वेतन वृद्धि के नए प्रस्ताव पर कैबिनेट की मुहर

यूपी की योगी सरकार ने अपने लाखों कर्मचारियों को तोहफा दिया है। वेतन वृद्धि को लेकर आए प्रस्ताव पर कैबिनेट ने मुहर लगा दी है। एक दिन पूर्व रिटायर होने वाले कर्मचारियों को वेतन वृद्धि का लाभ मिल सकेगा।

यूपी के लाखों कर्मचारियों को योगी सरकार का तोहफा, वेतन वृद्धि के नए प्रस्ताव पर कैबिनेट की मुहर
Yogesh Yadavलाइव हिन्दुस्तान,लखनऊTue, 11 Jun 2024 10:43 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी की योगी सरकार ने अपने लाखों कर्मचारियों को तोहफा दिया है। वेतन वृद्धि को लेकर आए प्रस्ताव पर कैबिनेट ने मुहर लगा दी है। इससे अब एक दिन पूर्व रिटायर होने वाले कर्मचारियों को वेतन वृद्धि का लाभ मिल सकेगा। इसके अनुसार अब 30 जून और 31 दिसंबर को रिटायर होने वाले सरकारी कर्मचारियों को एक जुलाई और एक जनवरी से प्रस्तावित वेतन वृद्धि का लाभ मिल सकेगा। वित्त मंत्री सुरेश खन्ना ने बताया कि अभी तक जो व्यवस्था थी उसके अनुसार 30 जून और 31 दिसंबर को रिटायर होने वाले कर्मचारियों को एक जुलाई या एक जनवरी को प्रस्तावित वेतन वृद्धि का लाभ नहीं मिल पाता था।

हालांकि अब कैबिनेट ने इसकी मंजूरी दे दी है। इससे कर्मचारियों को वेतन वृद्धि का लाभ उनकी पेंशन और ग्रेचुयुटी में मिल सकेगा। उन्होंने बताया कि सुप्रीम कोर्ट के एक निर्णय के बाद ज्यूडिशियल कर्मचारियों को पहले ही इसका लाभ दिया जा चुका है और अब सरकारी कर्मचारी भी इससे लाभान्वित हो सकेंगे।

अक्सर होता है कि कर्मचारियों की रिटायमेंट साल में दो बार 30 जून और 31 दिसंबर को होती है। सरकार की तरफ से वेतन वृद्धि आदि का ऐलान साल में कभी भी हो यह एरियर के साथ एक जुलाई या एक जनवरी से लागू होता है। ऐसे में एक दिन पहले रिटायर होने वाले कर्मचारियों को यह लाभ नहीं मिल पाता था। अब इसका लाभ मिलेगा। रिटायमेंट के बाद ज्यादा पेंशन मिल सकेगी।

विश्वविद्यालयों के नामों में संशोधन, 2 निजी विश्वविद्यायलों को एलओआई
इसके साथ ही योगी सरकार ने प्रदेश के 5 विश्वविद्यालयों के नामों में भी मामूली संशोधन किया गया है। स्वीकृत प्रस्ताव के अनुसार इन विश्वविद्यालयों के नाम से राज्य शब्द को हटाया गया है। महाराज सुहेलदेव राज्य विश्वविद्यालय आजमगढ़ का नाम अब महाराज सुहेलदेव विश्वविद्यालय आजमगढ़ होगा। इसी तरह मां शाकुम्भरी देवी राज्य विश्वविद्यालय सहारनपुर, मां विंध्यवासिनी राज्य विश्वविद्यालय मीरजापुर, मां पाटेश्वरी देवी राज्य विश्वविद्यालय बलरामपुर से भी राज्य शब्द को हटाने को मंजूरी दी गई है।

वहीं, उत्तर प्रदेश राज्य विश्वविद्यालय मुरादाबाद का नाम गुरु जंबेश्वर विश्वविद्यालय मुरादाबाद करने का निर्णय लिया गया है। प्रदेश सरकार के उच्च शिक्षा मंत्री योगेंद्र उपाध्याय ने बताया कि प्रदेश सरकार उच्च शिक्षा का विकास करने के लिए प्रतिबद्ध है ताकि प्रदेश के छात्र अपने ही प्रदेश में उच्च शिक्षा गृहण कर सकें। इसके लिए सरकारी विश्वविद्यालयों के साथ ही प्राइवेट विश्वविद्यालय को भी प्रमोट किया जा रहा है।

इसी क्रम में दो नए निजी विश्वविद्यालयों को लेटर ऑफ इंटेंट देने का प्रस्ताव पारित हुआ है। इसमें एचआरआईटी गाजियाबाद और दूसरा फ्यूचर विश्वविद्यालय बरेली है। इन दोनों ने अपने सभी मानक पूरे कर लिए हैं।