ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशसर्दियों में सुरक्षित यात्रा और गरीबों को ठंड से बचाने के लिए अभी से जुटी योगी सरकार, अफसरों को यह आदेश

सर्दियों में सुरक्षित यात्रा और गरीबों को ठंड से बचाने के लिए अभी से जुटी योगी सरकार, अफसरों को यह आदेश

यूपी की योगी सरकार सर्दियों में रोडवेज बसों की सुरक्षित यात्रा और गरीबों को ठंड से बचाने की मुहिम में अभी से जुट गई है। बसों में सभी जरूरी उपकरण और गरीबों को कंबल के लिए रुपए जारी कर दिए गए हैं।

सर्दियों में सुरक्षित यात्रा और गरीबों को ठंड से बचाने के लिए अभी से जुटी योगी सरकार, अफसरों को यह आदेश
Yogesh Yadavलाइव हिन्दुस्तान,लखनऊThu, 23 Nov 2023 11:12 PM
ऐप पर पढ़ें

यूपी की योगी सरकार सर्दियों में बसों की सुरक्षित यात्रा और गरीबों को ठंड से बचाने की मुहिम में अभी से जुट गई है। शरद ऋतु में कोहरे के कारण होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने के लिए योगी सरकार गंभीरता से प्रयास कर रही है। इसी कड़ी में कोहरे में सुरक्षित बस संचालन के संबंध में परिवहन निगम के अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं। इसमें कहा गया है की सुरक्षित यात्रा मुहैया कराने के लिए पूर्व तैयारी जरूरी है। इसके लिए अभियान चलाकर प्राथमिकता के आधार पर जरूरी उपकरण, कल-पूर्जे इत्यादि ठीक कराए जाएं। 

उत्तर प्रदेश के परिवहन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) दयाशंकर सिंह ने निर्देश दिए कि परिवहन निगम की सभी बसों में रेट्रो-रिफ्लेक्टिव टेप लगे हों, विद्युत वायरिंग की दशा ठीक हो, हेडलाइट, बैक लाइट, टेल लाइट, साइड, इन्डीकेटर लाइट, हार्न सही दशा में एवं कार्यरत हों। उन्होंने कहा कि बसों के शीशे बन्द करने-खोलने में यात्रियों को असुविधा का सामना न करना पड़े। साथ ही बसों के संचालन से सम्बंधी सभी जरूरी उपकरण लगे होने चाहिए एवं कार्यरत होने चाहिए। निर्देश दिये कि ड्राइवरों को सुरक्षित संचालन के सम्बंध में जागरूक किया जाए। ड्राइवरों को दुर्घटना बाहुल्य स्थानों, ब्लैक स्पाट एवं डायवर्जन के बारे में अवश्य बताया जाए। 

बिजी बस स्टेशन पर रात में भी तैनात किया जाए सुपरवाइजर
उन्होंने कहा कि ऐसे बस स्टेशन जहां पर पूरी रात बसों का आवागमन होता है, वहां पर रात्रिकालीन हेतु सुपरवाइजर की तैनाती की जाए, जो कोहरे की स्थिति के दृष्टिगत बसों के संचालन, स्थगन अथवा विलम्ब के बारे में जानकारी उपलब्ध कराएं एवं स्वयं निर्णय लें। समय-समय पर बसों की जांच की जाए एवं कमियों को दूर कराने के पश्चात ही बसों का संचालन कराया जाए।

गरीबों में मुफ्त कंबल के लिए 17.5 करोड़ जारी
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर ठंड से बचाने के लिए गरीबों को उच्च क्वालिटी के कंबल मुफ्त में बांटे जाएंगे। योगी सरकार ने शीतलहरी से उत्पन्न होने वाली समस्याओं से निराश्रित, असहाय व कमजोर वर्ग के असुरक्षित लोगों को राहत देने के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं।

मुख्यमंत्री की ओर से स्पष्ट निर्देश हैं कि शीतलहरी के दौरान गरीबों में वितरित किए जाने वाले कंबलों की गुणवत्ता उच्च क्वालिटी की होनी चाहिए। इसके लिए बजट की पहली किस्त जारी करते हुए सभी मंडलायुक्त व डीएम को पुख्ता इंतजाम करने के दिशा-निर्देश दिए गए हैं। शीतलहरी के दौरान निराश्रित व्यक्तियों, शरणार्थियों और प्रभावितों के अस्थायी आवास, भोजन व चिकित्सा सुविधा के लिए राहत विभाग को 120 करोड़ की धनराशि आवंटित की है। पहली किस्त करीब बीस करोड़ की धनराशि जारी कर दी गई है।

शीतलहरी से निपटने के लिए 351 तहसील को कंबल के लिए पहली किस्त का 17.55 करोड़ रुपये दिया गया है। अन्य राहत सामग्री के लिए भी इतने ही रुपये दिए गए हैं। सबसे अधिक धनराशि 38.50 लाख गाजीपुर, बुलंदशहर, गोरखपुर, सीतापुर और लखीमपुर खीरी को दिए गए हैं। डीएम, एडीएम, सीडीओ, एसडीएम और तहसीलदारों को अपने-अपने क्षेत्रों में भ्रमण कर निराश्रित, असहाय व कमजोर वर्ग के लोगों को चिह्नित करेंगे, जिससे ठंड से किसी की मृत्यु न हो।

सभी नगर पंचायत, नगर पालिका परिषद और नगर निगम के साथ गांवों में सार्वजनिक स्थलों पर जरूरत के अनुसार अलाव जलाने के निर्देश दिए गए हैं। मुख्य मार्गों व विशेषकर दुर्घटना बाहुल्य क्षेत्रों में सफेद थर्मोप्लास्टिक पेंट द्वारा पट्टियों को दर्शाने, रिफलेक्टर, सोलरकैट साईन व डेलिवेटर लगाने का निर्देश दिया गया है। ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में कृषि कार्यों में उपयोग में आने वाली ट्रैक्टर ट्रालियों के पीछे रेडियम की पीली पट्टी अभियान चलाकर लगवाने के निर्देश दिए गए हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें