DA Image
28 नवंबर, 2020|2:16|IST

अगली स्टोरी

खेत में पराली जलाने पर योगी सरकार ने किसान को कराया गिरफ्तार

खेत में पराली जलाकर प्रदूषण फैलाने के मामले में योगी सरकार की पुलिस ने रविवार को एक किसान को गिरफ्तार कर लिया। वाराणसी में यह पहला मौका है जब किसी किसान को इस मामले में गिरफ्तार किया गया है। 

 मिर्जामुराद पुलिस ने जोगियापुर गांव में पराली जला कर वायु दूषित करने के आरोप में पांचू यादव को पकड़ा है। सेवापुरी ब्लाक में कृषि विभाग के कर्मचारी राजेश कुमार यादव की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया। थाना प्रभारी सुनील दत्त दूबे ने बताया कि जिला प्रशासन लगातार वायु प्रदूषण रोकने के लिए जागरूक कर रहा है। पराली जलाने पर पूरी तरह रोक है। कहा कि पराली के अलावा कूड़ा या अन्य सामग्रियां जलाने वालों पर भी मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

ज्ञात हो कि दिल्ली में खतरनाक स्तर पर पहुंचे वायु प्रदूषण के लिए काफी हद तक आसपास के किसानों द्वारा खेतों में बड़े पैमाने पर पराली जलाने को कारण माना गया है। इसके बाद से ही सरकार ने खेतों में पराली जलाने पर रोक लगाते हुए ऐसे करने को दंडनीय माना है। 

पराली जलाने वालों की सेटेलाइट से 24 घंटे निगरानी
खेतों में पराली जलाने पर रोक के लिए शासन ने सख्ती बढ़ा दी है। पराली जलाने वालों की सेटेलाइट से 24 घंटे निगरानी की जा रही है। इसके लिए लखनऊ में कंट्रोल रूम बनाया गया है। सेटेलाइट से तस्वीरें मिलने के बाद कंट्रोल रूम संबंधित जिला प्रशासन व वहां के कृषि अधिकारी को सूचित कर रहा है। 
जिला कृषि अधिकारी उक्त सूचना के आधार पर तत्काल संबंधित ब्लाक के विभागीय कर्मचारी को मौके पर भेजेंगे। पराली जलाने वालों के खिलाफ संबंधित थाने में धारा-188 और वायु प्रदूषण नियंत्रण अधिनियम की धारा-39 के तहत मुकदमा दर्ज किया जाएगा। 

जोगियापुर में भी सेटेलाइट से पकड़ा गया
जिला कृषि अधिकारी सुभाष मौर्या ने बताया कि उन्हें जोगियापुर गांव में शनिवार देर रात पराली जलाने की सूचना सेटेलाइट के जरिये ही मिली थी। सूचना पर सेवापुरी ब्लॉक के कृषि प्राविधिक सहायक राजेश कुमार यादव को भेजा गया। जहां की तस्वीर थी, वहां टीम पौन घंटे में पहुंच गई और किसान को पकड़ लिया गया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Yogi government arrested farmer for burning stubble in the field