ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशचुनावी रंग से सजे बजट में युवाओं-महिलाओं-गरीबों पर होगा योगी सरकार का फोकस, खुल सकता है खजाना

चुनावी रंग से सजे बजट में युवाओं-महिलाओं-गरीबों पर होगा योगी सरकार का फोकस, खुल सकता है खजाना

UP Budget 2024: उत्‍तर प्रदेश की सभी 80 सीटें जीतने का लक्ष्य लेकर चल रही योगी आदित्‍यनाथ सरकार एक अप्रैल से शुरू होने वाले वित्तीय वर्ष 2024-25 में विकास कार्यों के लिए खजाना खोल सकती है।

चुनावी रंग से सजे बजट में युवाओं-महिलाओं-गरीबों पर होगा योगी सरकार का फोकस, खुल सकता है खजाना
Ajay Singhहेमंत श्रीवास्तव,लखनऊMon, 05 Feb 2024 06:38 AM
ऐप पर पढ़ें

UP budget 2024: यूपी की सभी 80 सीटें जीतने का लक्ष्य लेकर चल रही योगी आदित्‍यनाथ (Yogi Adityanath) सरकार एक अप्रैल से शुरू होने वाले वित्तीय वर्ष 2024-25 में विकास कार्यों के लिए खजाना खोल सकती है। सोमवार को प्रस्तुत होने वाले राज्य बजट से महिलाओं, किसानों, युवाओं और गरीबों को खुश करने के इंतजाम नजर आएंगे। इसके साथ ही तीन से चार नये औद्योगिक गलियारों की घोषणा के साथ ही कुंभ के लिए प्रयागराज को सजाने संवारने के मद में भारी भरकम धनराशि मिलने के आसार हैं।

इस बजट को पेश होने के बाद से प्रदेश में चारों तरफ लोकसभा चुनाव के रंग नजर आने लगेंगे। बजट में चुनावी तैयारियों की भरपूर झलक देखने को मिल सकती है। समाज के हर वर्ग को लुभाने के साथ ही सरकार अर्थव्यवस्था को मजबूत करने के अपने एजेंडे को भी आगे बढ़ाएगी। यूपी सरकार के इस बजट में महिलाओं के स्वावलंबन और युवाओं को रोजगार से जोड़ने की पहल दिख सकती है। किसानों की समस्याओं व मांगों को पूरा करने का इंतजाम भी हो सकता है।

प्रयागराज कुंभ तैयारियों के लिए हो सकती है धनवर्षा जनवरी 2025 में प्रयागराज में कुंभ शुरू होगा। सरकार का ध्यान कुंभ की व्यवस्थाओं को बहुत बेहतर करने की है। कुंभ में पहुंचने वाले आस्थावानों की सुविधा के लिए सरकार इस बजट से भारी भरकम धनराशि देगी। नागरिक सुविधाओं को चाक चौबंद करने का खाका खींचा गया है।

आस्था का केंद्र अयोध्या, मथुरा, काशी भी दिखेंगे बजट में सरकार का लक्ष्य प्रदेश में पर्यटन को अधिक से अधिक बढ़ावा देने की है। अयोध्या में श्रीरामलला का दिव्य मंदिर बन जाने और प्राण प्रतिष्ठा के बाद वहां उमड़ रही आस्थावानों की भीड़ को देखते हुए अयोध्या में नागरिक सुविधाओं से जुड़ी व्यवस्थाओं को और चाक चौबंद करने का इंतजाम भी बजट में हो सकता है। इसके अलावा काशी, मथुरा, चित्रकूट, गोरखपुर, विंध्याचल धाम में सुविधाओं के विकास पर भी बजट दिए जाने की चर्चाएं हैं।

सड़क और हवाई यातायात योजनाओं पर भी होगा जोर
सड़कों के निर्माण, चौड़ीकरण और संपर्क मार्गों को बजट से पर्याप्त धन मिलने की उम्मीद है। मेरठ सहित नौ शहरों में एयरपोर्ट बनाने के लिए प्रदेश सरकार अपनी जिम्मेदारियों को पूरा करती नजर आएगी। गौरतलब है कि केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने राज्यसभा में कहा था कि यूपी में मेरठ सहित नौ नये एयरपोर्ट अगले दो साले में बनाने का लक्ष्य है।

नए औद्योगिक गलियारों की घोषणा के आसार
बजट में गंगा एक्सप्रेस वे के किनारे औद्योगिक गलियारा, गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस वे के किनारे औद्योगिक गलियारा, गोरखपुर के गीडा क्षेत्र का विस्तार गोरखपुर-नौतनवा मार्ग पर करने, बुंदेलखंड औद्योगिक गलियारा के लिए भारी भरकम बजट दे सकती है। अयोध्या में दिव्य श्रीराम मंदिर बन जाने के बाद लखनऊ-अयोध्या हाईवे के किनारे औद्योगिक गलियारा बनाए जाने की घोषणा भी हो सकती है।

जलभराव खत्म करने के लिए भी पांच सौ करोड़
जलभराव के समाधान के लिए राज्य सेक्टर के तहत पानी की निकासी और जलप्लावन नियंत्रण योजना के लिए 500 करोड़ रुपये की मांग की गई है। इस पैसे से केंद्र सरकार के राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के शहरी बाढ़ प्रबंधन के आधार पर बाढ़ की समस्या का समाधान कराया जाएगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें