ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशबेटियों और महिलाओं को घरों में कैद करने की साजिश रच रहा इंडिया गठबंधन, योगी आदित्यनाथ का हमला

बेटियों और महिलाओं को घरों में कैद करने की साजिश रच रहा इंडिया गठबंधन, योगी आदित्यनाथ का हमला

सीएम योगी ने कहा कि विपक्षी इंडिया गठबंधन पर निशाना साधते हुए सोमवार को आरोप लगाया कि यह गठजोड़ देश में शरिया कानून लागू करके महिलाओं और बेटियों को घर में कैद करने की साजिश रच रहा है।

बेटियों और महिलाओं को घरों में कैद करने की साजिश रच रहा इंडिया गठबंधन, योगी आदित्यनाथ का हमला
Yogesh Yadavलाइव हिन्दुस्तान,मऊMon, 27 May 2024 04:14 PM
ऐप पर पढ़ें

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विपक्षी इंडिया गठबंधन पर निशाना साधते हुए सोमवार को आरोप लगाया कि यह गठजोड़ देश में शरिया कानून लागू करके महिलाओं और बेटियों को घर में कैद करने की साजिश रच रहा है। आदित्यनाथ ने मऊ की घोसी लोकसभा क्षेत्र से भाजपा की सहयोगी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के प्रत्याशी अरविंद राजभर के पक्ष में आयोजित एक जनसभा में कहा कि इंडी (इंडिया) गठबंधन से सावधान रहने की जरूरत है, क्योंकि वह कहता है कि सत्ता में आएंगे तो विरासत टैक्स लगाएंगे। इनका यह टैक्स औरंगजेब के जजिया कर की तरह है।

उनके अनुसार इंडी' वाले कहते हैं कि सत्ता में आने पर पर्सनल लॉ लागू करेंगे यानी वह देश में तालिबानी और शरिया कानून लागू करना चाहते हैं। मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि वह बेटियों और महिलाओं को घर में कैद करने की साजिश कर रहे हैं, लेकिन इन्हें यह नहीं पता कि यह देश बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर के संविधान से चलेगा। उन्होंने कहा ''हम देश में फिर से तीन तलाक की कुप्रथा शुरू नहीं होने देंगे।

आदित्यनाथ ने कहा कि कांग्रेस और समाजवादी पार्टी की सोच नकारात्मक है और यह लोग प्रभु राम के साथ देश के भी विरोधी हैं। उन्होंने कहा ''यह लोग दलितों और पिछड़ों के हक पर डकैती डालते हैं। अब इनकी नजर ओबीसी (अन्य पिछड़े वर्गों) के आरक्षण पर है। वे कहते हैं कि ओबीसी आरक्षण में सेंध लगाकर उसे मुसलमानों को देंगे, लेकिन हम ऐसा होने नहीं देंगे। यह ओबीसी जाति के लोगों का अधिकार है और इस अधिकार को हम छीनने नहीं देंगे।

उन्होंने कहा कि बाबा साहब भीमराव आंबेडकर ने कहा था कि आरक्षण का आधार धर्म नहीं हो सकता। उन्होंने आरोप लगाया कि विपक्षी दल धर्म के आधार पर एक बार फिर देश को विभाजित करना चाहते हैं।उन्होंने कहा ''लेकिन जनता इनके मंसूबों को समझ गई है। यही वजह है कि वह कहती है कि जो राम को लाए हैं, हम उनको लाएंगे।