ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशज्ञानवापी में पूजा; वाराणसी के मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में छह दिसंबर जैसी बंदी, जगह-जगह पुलिस फोर्स तैनात

ज्ञानवापी में पूजा; वाराणसी के मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में छह दिसंबर जैसी बंदी, जगह-जगह पुलिस फोर्स तैनात

वाराणसी में एक तरफ ज्ञानवापी के तहखाने में पूजा शुरू हो गई तो दूसरी तरफ मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में छह दिसंबर जैसी बंदी दिखाई दे रही है। अफसरों ने सतर्कता बरतते हुए जगह-जगह पुलिस फोर्स तैनात कर दी है।

ज्ञानवापी में पूजा; वाराणसी के मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में छह दिसंबर जैसी बंदी, जगह-जगह पुलिस फोर्स तैनात
Yogesh Yadavलाइव हिन्दुस्तान,वाराणसीThu, 01 Feb 2024 04:36 PM
ऐप पर पढ़ें

वाराणसी में एक तरफ गुरुवार की सुबह अदालत के आदेश पर ज्ञानवापी में स्थित व्यासजी के तहखाने में पूजा पाठ शुरू हो गई तो दूसरी तरफ मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में छह दिसंबर जैसी बंदी दिखाई दे रही है।छह दिसंबर को ही अयोध्या में विवादित ढांचे को गिराया गया था। हर साल मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में इस दिन विरोध स्वरूप बंदी रहती है। फिलहाल कहीं से किसी प्रकार के विरोध या किसी अप्रिय घटना की सूचना तो नहीं है फिर भी सतर्कतावश अफसरों ने मिश्रित आबादी वाले इलाकों में पुलिस की गश्त बढ़ा दी है। जगह-जगह भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है।

वाराणसी जिला जज की अदालत से बुधवार की दोपहर व्यासजी के तहखाने में पूजा की इजाजत मिलने के कुछ घंटे बाद ही वाराणसी में हाईअलर्ट घोषित कर दिया गया था। ज्ञानवापी-विश्नाथ मंदिर के आसपास भारी फोर्स तैनात कर दी गई। डीएम के साथ ही पुलिस कमिश्नर भी देर रात विश्नाथ मंदिर पहुंचे। अदालत के आदेश का देर रात ही पालन कराया गया। ज्ञानवापी को घेरकर बनाई गई लोहे की बैरिकेडिंग हटाकर तहखाने में पूजा की व्यवस्था कराई गई। भोर में विश्वनाथ मंदिर के पुजारियों ने यहां पूजा भी शुरू कर दी। 

ज्ञानवापी में पूजा की जानकारी जैसे-जैसे शहर में फैली वैसे-वैसे पुलिस प्रशासन ने भी सतर्कता तेज कर दी। मिश्रित आबादी वाले इलाकों में पुलिस फोर्स बढ़ाने के साथ ही कुछ इलाकों को छावनी में बदल दिया गया। पुलिस वालों ने गलियों में भी गश्त की और सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। ज्ञानवापी-विश्वनाथ मंदिर की ओर जाने वाले रास्तों मैदागिन और गोदौलियां पर भी भारी फोर्स तैनात हो गई। पुलिस कमिश्नर अशोक मुथा जैन भी आधी रात यहां से जाने के बाद सुबह दोबारा पहुंचे और पूरे हालात का जायजा लिया।

मुस्लिम इलाकों में नहीं खुली दुकानें
इस बीच वाराणसी के मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में दुकानें नहीं खुलीं। विश्वनाथ मंदिर के सबसे करीब स्थित दालमंडी में सन्नाटा पसरा रहा। हमेशा भीड़ वाली गली में सन्नाटा पसरा रहा। यहां पुलिस गश्त करती रही। सराय हड़हा और पीलीकोठी में भी आधी दुकानें बंद रहीं। हालांकि मुस्लिम इलाके बजरडीहा और रेवड़ीतालाब में दुकानें खुली दिखाई दीं। यहां एसीपी भेलूपुर पुलिस बल के साथ खुद गश्त करते रहे। मदनपुरा में भी कई दुकानें बंद रहीं। शहर के साथ ही ग्रामीण इलाके में आने वाले सबसे बड़े बाजारा लोहता के बड़ी बाजार और मीना बाजार में भी दुकानें बंद रहीं। लोहता के बड़ी बाजार में मुस्लिम दुकानदारों के साथ ही हिन्दू कारोबारियों की भी दुकानें बंद रहीं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें