DA Image
Monday, November 29, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशसमाजवादी पार्टी के टिकट पर विधायक बने नितिन अग्रवाल को बीजेपी क्यों बनाएगी डिप्टी स्पीकर? सीएम योगी ने बताई वजह

समाजवादी पार्टी के टिकट पर विधायक बने नितिन अग्रवाल को बीजेपी क्यों बनाएगी डिप्टी स्पीकर? सीएम योगी ने बताई वजह

लखनऊ। विशेष संवाददाता Dinesh Rathour
Sun, 17 Oct 2021 07:32 PM
समाजवादी पार्टी के टिकट पर विधायक बने नितिन अग्रवाल को बीजेपी क्यों बनाएगी डिप्टी स्पीकर? सीएम योगी ने बताई वजह

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधानसभा उपाध्यक्ष उपचुनाव में नितिन अग्रवाल के नामांकन के बाद मीडिया से बातचीत में कहा कि भाजपा संसदीय परंपराओं का पालन कर रही है। परंपरा के मुताबिक अध्यक्ष पद सत्ता  पक्ष का और विधानसभा उपाध्यक्ष का पद विपक्ष के लिए रिजर्व होता है। हमने सबसे बड़े विपक्षी दल के विधायक को प्रत्याशी बनाया है। विपक्षी दल प्रत्याशी दे नहीं पाया। हम सबसे बड़े विपक्षी दल के नेता का समर्थन कर रहे हैं।  वही संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि नितिन अग्रवाल सपा के विधायक हैं। वह सपा के टिकट पर चुनाव जीते। वह सपा विधायकों के संग ही सदन में बैठते हैं। वह सपा से अलग कैसे हो सकते हैं।

दोनों पक्षों ने दिखाई ताकत

पर्चा भरने के दौरान दोनों पक्षों ने अपने अपने तरीके से ताकत दिखाने की कोशिश की। नितिन अग्रवाल के साथ संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना, कानून मंत्री ब्रजेश पाठक, श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य, एमएसएमई विभाग के मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह, जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह मौजूद थे। तो वहीं दूसरी ओर सपा प्रत्याशी संग नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी, प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम व कई अन्य विधायक भी थे।  मैदान में दोनों प्रत्याशी सपा के ही हैं। सपा ने रणनीति के तहत अपना अधिकृत प्रत्याशी उतार कर उपाध्यक्ष चुनाव निर्विरोध न कराने की स्थिति भाजपा के सामने पैदा कर दी है।

भाजपा कैसे तय कर सकती है सपा का प्रत्याशी : रामगोविंद चौधरी

सपा का प्रत्याशी भाजपा कैसे तय कर सकती है। अगर नितिन अग्रवाल हमारे दल के हैं तो हम तय करेंगे न कि सपा से कौन प्रत्याशी होगा। भाजपा को यह अधिकार किसने दे दिया। असल में भाजपा को न विधानसभा में विश्वास है न लोकतंत्र और न विधायकों में। उसका हर काम वोट के लिए ही होता है।  

सपा संसदीय परंपराओं का अपमान कर रही है : नितिन अग्रवाल

सपा संसदीय परंपराओं का अपमान कर रही है। मुख्यमंत्री हमारे नामांकन में आए हैं क्योंकि वह विधानसभा में नेता सदन हैं। नामांकन में मौजूद नितिन अग्रवाल के पिता व पूर्व सांसद नरेश अग्रवाल ने कहा कि सपा असल में कन्फ्यूज्ड है। सपा ने अपना प्रत्याशी उतार कर अपनी हार स्वीकार कर ली है।

अंतरात्मा की आवाज पर विधायक मुझे देंगे वोट : नरेंद्र वर्मा

नरेन्द्र वर्मा ने कहा कि संसदीय परंपराओं के अनुरूप विधानसभा उपाध्यक्ष का पद सदन में सबसे बड़े विपक्षी दल का होता है। नितिन अग्रवाल मेरे छोटे भाई हैं लेकिन वह भाजपा में हैं। सत्ता पक्ष रोज नई नजीर पेश कर रहा है, संवैधानिक परंपराओं और मर्यादाओं को तोड़ मरोड़ रहा है। मुझे भरोसा है विधानसभा के सदस्य अंतरात्मा की आवाज पर मुझे वोट देंगे।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें