ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News उत्तर प्रदेशअयोध्या में हार क्यों हुई? यूपी बीजेपी अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी कारण तलाशने में जुटे 

अयोध्या में हार क्यों हुई? यूपी बीजेपी अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी कारण तलाशने में जुटे 

लोकसभा चुनाव 2024 में अयोध्या में हार क्यों हुई? यूपी बीजेपी अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी कारण तलाशने में जुटे हैं। हार की समीक्षा के लिए वह अयोध्या पहुंचे थे।

अयोध्या में हार क्यों हुई? यूपी बीजेपी अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी कारण तलाशने में जुटे 
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,अयोध्याThu, 20 Jun 2024 10:56 AM
ऐप पर पढ़ें

अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के बावजूद फैजाबाद की प्रतिष्ठापूर्ण सीट पर हार से भाजपा को करारा झटका लगा है। इस संसदीय क्षेत्र से पार्टी प्रत्याशी को मिली हार की समीक्षा के लिए बुधवार की सुबह भाजपा प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी अयोध्या पहुंचे। प्रदेश अध्यक्ष ने बुधवार को पूरे दिन अलग अलग विधानसभाओं में बैठकें कर हकीकत जानने का प्रयास किया। मंडल स्तर के पदाधिकारियों से बारी-बारी मुलाकात कर हार के मूल कारणों तक पहुंचने की कोशिश की।

दोपहर में सबसे पहले मिल्कीपुर विधानसभा से समीक्षा बैठक शुरू हुई। इसके बाद सहादतगंज पार्टी कार्यालय पर बीकापुर विधानसभा की बैठक हुई। देर रात सर्किट हाउस में अयोध्या विधानसभा की समीक्षा हुई। इस दौरान बारी-बारी से प्रदेश अध्यक्ष ने पदाधिकारियों के साथ स्थानीय मंडल अध्यक्षों से बंद कमरे में बात की। इस दौरान किसी विधायक को नहीं बुलाया गया था। अयोध्या विधानसभा की समीक्षा के दौरान सर्किट हाउस में महापौर गिरीश पति त्रिपाठी, महानगर अध्यक्ष कमलेश श्रीवास्तव, जिला अध्यक्ष संजीव सिंह समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे। गुरुवार को रुदौली व दरियाबाद विधानसभाओं की बैठक होगी।

हाईकमान को भेजी जाएगी रिपोर्ट
बारून, संवाददाता। फैजाबाद सीट पर लोकसभा चुनाव में मिली पराजय पर भाजपा के प्रदेश नेतृत्व ने मंथन शुरू कर दिया है। दरअसल भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने यूपी में हार के कारणों पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी है। इसीलिए प्रदेश नेतृत्व द्वारा 40 टीमें 80 लोकसभा क्षेत्रों में भेजी गई हैं। इसी क्रम में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी फैजाबाद लोकसभा सीट की समीक्षा कर रहे हैं। सभी टीमों को 20 जून तक अपनी रिपोर्ट सौंपनी है। फिर प्रदेश नेतृत्व की ओर से 25 जून के आसपास यूपी की विस्तृत रिपोर्ट पार्टी हाईकमान को भेजी जाएगी। इसी क्रम में मिल्कीपुर विधानसभा की बैठक में जिले के वरिष्ठ पदाधिकारियों के साथ पूर्व विधायक गोरखनाथ बाबा और संगठन के अन्य स्थानीय पदाधिकारी मौजूद रहे। मिल्कीपुर विधानसभा क्षेत्र के पांचों मंडल के अध्यक्षों से उनकी टीम के साथ अलग-अलग बात की गई। उनसे बिंदुवार सवाल पूछे गए। सूत्रों की माने तो कुछ पदाधिकारियों ने पार्टी के नेताओं की महत्वाकांक्षा को हार का सबसे बड़ा कारण बताया। इस बैठक में क्षेत्रीय अध्यक्ष कमलेश मिश्र, लोकसभा प्रभारी अयोध्या श्री कृष्ण, लोकसभा संयोजक बांके बिहारी मणि त्रिपाठी, लोकसभा सहसंयोजक ओम प्रकाश सिंह, विधानसभा मिल्कीपुर प्रभारी गोकरन द्विवेदी, जनार्दन मौर्य, अर्जुन सिंह, अजय तिवारी, अरुण गुप्ता सहित अन्य मौजूद रहे।