DA Image
29 अक्तूबर, 2020|12:30|IST

अगली स्टोरी

कौन हैं IPS संजीव सिंघल, ससुराल संभल में क्यों मनाया जा रहा जश्न, जानिए पूरा मामला

bihar new dgp sanjeev singhal

बिहार के नये डीजीपी बनाये गये संजीव सिंघल का संभल से खास जुड़ाव रहा है। उनकी ससुराल संभल में है और वह यहां अपने ससुर हरीश गर्ग के प्रबंधन वाले बाल विद्या मंदिर स्कूल में बच्चों का मार्गदर्शन करते रहे हैं। संजीव सिंघल के बिहार डीजीपी बनने की खबर से उनकी ससुराल में जश्न का माहौल है। वहीं स्कूल में उनसे मार्गदर्शन पाने वाले बच्चे भी खुद को गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं। 

संभल के प्रमुख कारोबारी व वरिष्ठ भाजपा नेता हरीश गर्ग ने 1989 में अपनी बेटी सुमिता गर्ग की शादी पंजाब के जालंधर निवासी जिस आईपीएस अधिकारी के साथ की थी उन्हें अब बिहार प्रदेश में पुलिस महानिदेशक बनाया गया है। बिहार के डीजीपी बने संजीव सिंघल का संभल से केवल इतना ही रिश्ता नहीं है कि यहां उनकी ससुराल है। बल्कि उनका खास जुड़ाव संभल के बाल विद्या मंदिर स्कूल से भी है। शादी के बाद से ही वह स्कूल आकर प्रतिभावान बच्चों से संवाद कायम कर उनका मागदर्शन करने का सिलिसला जारी रखे हुए हैं। संजीव सिंघल बच्चों को बताते रहे हैं कि इरादा पक्का हो तो जीवन में लक्ष्य का हासिल करना बेहद आसान है। 

डीजीपी बनने की खबर से जश्न का माहौल

संभल। संजीव सिंघल को बिहार का पुलिस महानिदेशक बनाये जाने की जानकारी मिलने के बाद यहां उनकी ससुराल में जश्न का माहौल नजर आया। ससुर हरीश गर्ग व परिवार के अन्य लोगों ने एक दूसरे को मिठाई खिलाकर खुशी मनाई। हरीश गर्ग ने कहा कि वास्तव में यह उनके लिए गर्व का क्षण है। इसके साथ ही गुरुवार को संभल के बाल विद्या मंदिर स्कूल में भी खुशी मनाई गई। प्रधानाचार्य राय मान जार्ज ने कहा कि संजीव सिंघल का स्कूल से खास जुड़ाव है इसलिए पूरे विद्यालय परिवार के लिए उनका डीजीपी बिहार बनना खुशी देने वाला है। 

अनुशासन व समयबद्धता करते हैं पसंद 
संभल। बाल विद्या मंदिर स्कूल के प्रधानाचार्य राय मान जार्ज ने कहा कि सुजीव सिंघल को अनुशासन व समयबद्धता पसंद है। वह स्कूल में भी बच्चों को इसकी सीख देते रहे हैं। अब उनके डीजीपी बिहार बन जाने से वह बच्चे भी गौरव महसूस कर रहे हैं जो उनका मार्गदर्शन पा चुके हैं। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:who is IPS sanjeev singhal for whose sake the celebration is being celebrated in this district of uttar pradesh