ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशयोगी कैबिनेट का कब होगा विस्तार, ओपी राजभर ने बताया, शिवपाल यादव को लेकर यह दावा

योगी कैबिनेट का कब होगा विस्तार, ओपी राजभर ने बताया, शिवपाल यादव को लेकर यह दावा

योगी कैबिनेट का विस्तार कब होगा इस पर सुभासपा प्रमुख ओपी राजभर ने सोमवार को स्थिति साफ की। उन्होंने दावा किया कि सितंबर में उनकी पार्टी सरकार में शामिल होगी। उन्होंने शिवपाल को लेकर भी बड़ा दावा किया

योगी कैबिनेट का कब होगा विस्तार, ओपी राजभर ने बताया, शिवपाल यादव को लेकर यह दावा
Yogesh Yadavहिन्दुस्तान,लखनऊMon, 14 Aug 2023 08:57 PM
ऐप पर पढ़ें

योगी कैबिनेट का विस्तार कब होगा इस पर सुभासपा प्रमुख ओपी राजभर ने सोमवार को स्थिति साफ की। उन्होंने दावा किया कि सितंबर में उनकी पार्टी सरकार में शामिल होगी। उन्होंने शिवपाल यादव को लेकर भी बड़ा दावा किया। कहा कि शिवपाल यादव सपा में उपेक्षित हैं और वे भाजपा में शामिल हो सकते हैं। राजभर ने यह बातें गोरखपुर-बस्ती मंडल और अंबेडकरनगर के संगठन की तैयारियों की समीक्षा बैठक में कहीं। इस दौरान वह समाजवादी पार्टी पर खासे हमलावर रहे।

उन्होंने कहा कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव में अपनों को सहेजने की कला नहीं है। वह गलतियों से सीख भी नहीं रहे हैं। वर्ष 2022 के विधानसभा चुनाव में गठबंधन के पराजय की मुख्य वजह सपा सुप्रीमो का यही रवैया था। उनकी इसी कमी की वजह से विधानसभा चुनाव के बाद सपा सुप्रीमो से उनकी नहीं बनी। इससे पहले दो बार बसपा से, एक बार कांग्रेस और आरएलडी से भी सपा का गठबंधन हुआ था। हर गठबंधन सपा सुप्रीमो की खामी की वजह से ही टूटा है।

भाजपा में शामिल हो सकते हैं शिवपाल
उन्होंने कहा कि सपा सुप्रीमो को अपने ही चाचा शिवपाल यादव और रामगोपाल यादव पर भी भरोसा नहीं है। उन्होंने दावा किया कि शिवपाल यादव सपा में उपेक्षित हो गए हैं। विधानसभा में हुई बहस में उन्होंने इसके संकेत भी दिए। उनकी बात कोई सुन नहीं रहा है। भाजपा से उनकी नजदीकियां बढ़ रही हैं। वह जल्द ही भाजपा में शामिल हो सकते हैं।

सितंबर में सरकार में शामिल होगी सुभासपा
पूर्व कैबिनेट मंत्री ने दावा किया कि एक बार फिर पार्टी सूबे में भाजपा सरकार में शामिल होगी। आगामी 15 सितंबर से पहले प्रदेश सरकार में मंत्रिमंडल का विस्तार करेगी। जिसमें सुभासपा को भी जगह मिलेगी। पार्टी आगामी लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी को तीसरी बार प्रधानमंत्री बनने के लिए कमर कर चुकी है।

केन्द्र को अनुसूचित जाति-जनजाति शोध रिपोर्ट भेजेगी प्रदेश सरकार 
उन्होंने बताया कि पूर्वीयूपी में भर और राजभर मतदाता निर्णायक है। इनकी आबादी वोटर लिस्ट के मुताबिक तीन फीसदी है, जबकि समाज में इनकी संख्या अधिक है। आबादी के अनुपात में ही पार्टी हिस्सेदारी मांग रही है। प्रदेश के 28 लोकसभा क्षेत्र में समाज के मतदाता निर्णायक है। प्रदेश सरकार भी भर और राजभर समाज को उसका हक देने को तैयार है। इसके लिए अनुसूचित जाति जनजाति शोध आयोग सर्वे कर रहा है। उसकी रिपोर्ट प्रदेश सरकार जल्द ही केंद्र सरकार को भेजेगा। यह सर्वे सूबे के 17 जिलों में चल रहा है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें