ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News उत्तर प्रदेशव्‍हील चेयर रेस: वाराणसी में सर्द हवाओं के बीच दि‍व्‍यांगों ने दिखाया गजब का हौसला, बंसल पटेल बने विजेता

व्‍हील चेयर रेस: वाराणसी में सर्द हवाओं के बीच दि‍व्‍यांगों ने दिखाया गजब का हौसला, बंसल पटेल बने विजेता

वाराणसी में बुधवार की सुबह सर्द हवाओं के बीच दिव्यांगों ने गजब का हौसला दिखाया। व्हील चेयर रेस में भागीदारी करने बड़ी संख्या में दिव्यांग पहुंचे। दिव्यांगों के आत्मविश्वास को बढ़ावा देने के लिए इसका...

व्‍हील चेयर रेस: वाराणसी में सर्द हवाओं के बीच दि‍व्‍यांगों ने दिखाया गजब का हौसला, बंसल पटेल बने विजेता
वाराणसी लाइव हिन्दुस्तानWed, 13 Jan 2021 06:49 PM
ऐप पर पढ़ें

वाराणसी में बुधवार की सुबह सर्द हवाओं के बीच दिव्यांगों ने गजब का हौसला दिखाया। व्हील चेयर रेस में भागीदारी करने बड़ी संख्या में दिव्यांग पहुंचे। दिव्यांगों के आत्मविश्वास को बढ़ावा देने के लिए इसका आयोजन अंश जल फाउंडेशन एवं संभव पैरास्पोर्ट्स एकेडमी ने बीएचयू परिसर में किया था। कार्यक्रम में 13 दिव्यांग बच्चों को व्हीलचेयर भी दी गई। 

प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार बंसल पटेल, द्वितीय पुरस्कार कृष्णा कुमार को व तृतीय पुरस्कार अनिल यादव को मिला व सभी प्रतिभागियों को सांत्वना पुरस्कार दिए गए। आयोजन से जुड़ी अग्रवाल समाज की डॉ रितु गर्ग ने बताया कि इस प्रति‍योगि‍ता का मुख्‍य उद्देश्‍य ऐसे सभी दिव्यांगजन जो ज्यादा घर से बाहर नहीं निकलते उनको भी मुख्यधारा में जोड़ना है। डॉ रितु गर्ग ने कहा कि ऐसी प्रतियोगिताओं में जीत या हार मायने नहीं रखती बल्कि प्रतिभाग करना ही सबसे महत्वपूर्ण है। कोशिश रहेगी कि आगे ऐसे और भी आयोजन कर ज्यादा से ज्यादा दिव्यांग प्रतिभागियों को मौका दिया जाए।

सभी दिव्यांगों का मनोबल एवं आत्मविश्वास बढ़ाने के साथ साथ उनकी शिक्षा व रोज़गार के समान अवसर भी उपलब्ध कराने के लिए डॉक्टर रितु गर्ग ने लोगों से अपील की ताकि दिव्यांग अपने आप को समाज की मुख्यधारा से जोड़ते हुए खुद को सम्मानित एवं गौरवान्वित महसूस कर सकें।

कार्यक्रम का संचालन बृजेश चंद्र पाठक ने करते हुए सभी प्रतिभागियों को प्रोत्साहित किया व ज़्यादा से ज़्यादा समाजसेवियों से ऐसे आयोजनो में जुड़ने की अपील की। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि दंडी स्वामी श्री जितेंद्रानंद सरस्वती, काशी अग्रवाल समाज के सभापति अशोक अग्रवाल एवं काशी हिंदू विश्वविद्यालय के प्रॉक्टर डॉ आनंद चौधरी, दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी राजेश मिश्रा रहें।  

प्रोफेसर आनंद चौधरी ने सभी दिव्यांगों को आश्वासन दिया कि काशी हिंदू विश्वविद्यालय में उनके लिए जो भी उपलब्ध सुविधाएं होंगी वह सभी उनको मुहैया कराई जाएंगी। अपनी तरफ से भी उन्होंने हर संभव सहायता देने की घोषणा की। स्वामी जितेंद्रानंद सरस्वती ने सभी दिव्यांग प्रतिभागियों को अपने आशीर्वचन देते हुए कहा कि आप सभी पर भगवान का आशीर्वाद सदैव बना रहे। दिव्यांगता कोई अभिशाप नहीं है।

अशोक अग्रवाल ने सारे प्रतिभागियों को आश्वासन दिया कि वह हमेशा से ही हर दिव्यांग के साथ हैं एवं उनकी कोशिश रहेगी कि प्रतिभावान दिव्यांगों को स्वरोजगार व शिक्षा के अवसर उपलब्ध करा सकें। राजेश मिश्रा ने प्रतिभागियों का मनोबल बढ़ाते हुए कहा कि दिव्यांग हर वह काम कर सकते हैं जो एक सक्षम आदमी कर सकता है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें