ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ उत्तर प्रदेशमुलायम सिंह यादव को लेकर केशव प्रसाद मौर्य ने ऐसा क्या कहा, जिसको सुनता रहा पूरा सदन 

मुलायम सिंह यादव को लेकर केशव प्रसाद मौर्य ने ऐसा क्या कहा, जिसको सुनता रहा पूरा सदन 

विधान परिषद में नेता सदन केशव प्रसाद मौर्या ने सोमवार को पूर्व मुख्यमंत्री स्व. मुलायम सिंह यादव के निधन पर अपनी शोक संवेदनाएं व्यक्त करते हुए कहा कि वह जमीन से जुड़े नेता थे।

मुलायम सिंह यादव को लेकर केशव प्रसाद मौर्य ने ऐसा क्या कहा, जिसको सुनता रहा पूरा सदन 
Dinesh Rathourविशेष संवाददाता,लखनऊMon, 05 Dec 2022 07:20 PM
ऐप पर पढ़ें

विधान परिषद में नेता सदन केशव प्रसाद मौर्या ने सोमवार को पूर्व मुख्यमंत्री स्व. मुलायम सिंह यादव के निधन पर अपनी शोक संवेदनाएं व्यक्त करते हुए कहा कि वह जमीन से जुड़े नेता थे। जब मैं उनके अंतिम संस्कार में सैफई गया तो पाया कि दलगत राजनीति से ऊपर उठ कर कई पार्टियों के नेता वहां थे। उनका जीवन परिचय लोगों को पढ़ना चाहिए। मुलायम सिंह को लेकर केशव प्रसाद मौर्य ने जो बातें बताईं उसे सदन में बैठे सदस्यों ने ध्यान से सुना।

उन्होंने कहा कि वह बड़े दिल के नेता थे। मेरे प्रदेश अध्यक्ष रहने के दौरान जब भाजपा ने जीत हासिल की तो उन्होंने मुझे बधाई देते हुए शाबासी दी जबकि उनकी पार्टी हार गई थी। उन्होंने हमेशा विपक्षी नेताओं को भी पूरे मन से आशीर्वाद दिया। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई की पंक्तियां है कि छोटे मन से कोई बड़ा नहीं होता.. ये लाइनें मुलायम सिंह यादव पर फिट बैठती हैं। हमारे प्रधानमंत्री भी उनका बहुत सम्मान करते हैं। राजनीति में विरोध स्वाभाविक है लेकिन इसके बाद सबका सम्मान करना और मधुर संबंध रखना निश्चित तौर पर उल्लेखनीय है।

सपा के नेता लाल बिहारी यादव, नरेश उत्तम, डा मान सिंह यादव, स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव जमीनी नेता थे। पार्टी के कार्यकर्ता से लेकर नेताओं तक से वह एक ही भाव से मिलते थे।  मुख्यमंत्री रहते हुए उन्होंने आलोचनाओं को भी सहज भाव से सुना। सदन में नेता शिक्षक दल सुरेश कुमार त्रिपाठी व ध्रुव कुमार त्रिपाठी, निर्दलीय समूह के नेता राज बहादुर सिंह चन्देल, बसपा के नेता  भीमराव अम्बेडकर समेत देवेन्द्र सिंह, मोहसिन रजा, लक्ष्मण आचार्य, डा जयपाल सिंह, डा सरोजनी अग्रवाल, बुक्कल नवाब, डा हरि सिंह ढिल्लो, रमा निरंजन आदि ने भी शोक उदगार व्यक्त किए।

कुंवर मानवेन्द्र सिंह ने रमेश चन्द्र शर्मा ‘विकट’, पूर्व सदस्य विधान परिषद,   राम सुन्दर दास निषाद ‘एडवोकेट’, डा. राम कुमार कुरील के शोक संदेश भी पढ़े। पूर्व रक्षामंत्री व मुख्यमंत्री स्व. मुलायम सिंह यादव के शोक संदेशों को पढ़ने के बाद दोपहर में परिषद मंगलवार तक के लिए स्थगित कर दी गई। नेता सदन केशव प्रसाद मौर्या ने 2022-23 के अनुपूरक अनुदानों की मांगों को सदन में रखा।